अरविंद केजरीवाल और एलजी अनिल बैजल के बीच अहम बैठक आज, होगी कई अहम मुद्दों पर चर्चा

 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल अनिल बैजल की फाइल फोटो।

 दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल अनिल बैजल कुछ देर बाद अहम बैठक करने जा रहे हैं। बैठक खत्म होने के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल इसमें लिए गए निर्णय की जानकारी डिजिटल पत्रकार वार्ता के दौरान लेंगे।

नई दिल्ली, एएनआइ। राजधानी में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के साथ मृत्युदर में भी तेजी से इजाफा हुआ है। वहीं, दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों में ऑक्सीजन आपूर्ति में कमी आने बात भी सामने आई है। इन सब मुद्दों को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल अनिल बैजल कुछ देर बाद अहम बैठक होने जा रही है। बैठक खत्म होने के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल इसमें लिए गए निर्णय की जानकारी डिजिटल पत्रकार वार्ता के दौरान लेंगे।

बता दें कि मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि अस्पतालों में आक्सीजन का संकट यथावत बना हुआ है। स्थिति की गंभीरता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि कई अस्पतालों में कुछ घंटे की ही ऑक्सीजन बची है। उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार दिल्ली के अस्पतालों में तुरंत आक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराए। मुख्यमंत्री ने मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंस के जरिये दिल्ली में कोरोना के मौजूदा हालात को लेकर समीक्षा बैठक की थी। इस मौके पर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा थाकि आक्सीजन को लेकर सब अस्पतालों से फोन आ रहे हैं। ऑक्सीजन आपूर्ति करने वाले लोगों को अलग-अलग राज्यों में रोक दिया जा रहा है। आक्सीजन की आपूर्ति को लेकर राज्यों के बीच जंगलराज ना हो, इसलिए केंद्र सरकार को हमेशा सक्रिय रहना होगा।

वहीं, मनीष सिसोदिया ने कहा कि प्रदेश सरकार एक सप्ताह से दिल्ली को आक्सीजन आपूर्ति का कोटा बढ़ाने की मांग कर रही है। अगर बुधवार सुबह तक पर्याप्त मात्रा में अस्पतालों में आक्सीजन नहीं पहुंची तो हाहाकार मच जाएगा। वहीं विधायक राघव चड्ढा ने दिल्ली के कुछ अस्पतालों का डाटा शेयर करते हुए ट्वीट किया है कि किस अस्पताल में कितने घंटे तक की आक्सीजन बची है।

यहां पर बता दें कि राजधानी दिल्ली में मंगलवार को 24 घंटे के दौरान कोरोना संक्रमण के 28,395 मामले सामने आए हैं। दिल्ली में एक दिन में सामने आए संक्रमण के ये सर्वाधिक मामले हैं। वहीं मंगलवार को 277 लोगों की मौत हुई। पूरे कोरोना काल में दिल्ली में एक दिन में कभी भी इतनी बड़ी संख्या में लोगों की मौत नहीं हुई है। इसके बाद संक्रमण दर भी बढ़कर 32.82 फीसद पहुंच गई।