भारत ने बनाया माइक्रोसेंसर आधारित दुनिया का पहला एक्सप्लोसिव ट्रेस डिटेक्टर

 

भारत ने बनाया माइक्रोसेंसर आधारित दुनिया का पहला एक्सप्लोसिव ट्रेस डिटेक्टर

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने शुक्रवार को नैनोस्निफर नामक दुनिया के पहले माइक्रोसेंसर आधारित स्वदेशी एक्सप्लोसिव ट्रेस डिटेक्टर (ईटीडी) लांच किया। मंत्री ने कहा नैनोस्निफर की लांचिंग से अन्य संस्थान स्टार्टअप और मध्यम दर्जे के उद्योग शोध और देश में ही उत्पादों के विकास के लिए प्रोत्साहित होंगे।

नई दिल्ली, एएनआइ। केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने शुक्रवार को नैनोस्निफर नामक दुनिया के पहले माइक्रोसेंसर आधारित स्वदेशी एक्सप्लोसिव ट्रेस डिटेक्टर (ईटीडी) लांच किया। 10 सेकेंड से भी कम समय में विस्फोटकों का पता लगाने में सक्षम इस सस्ते उपकरण से आयातित उपकरणों पर देश की निर्भरता कम होगी।

सरकार की ओर से जारी बयान के मुताबिक, इस मौके पर शिक्षा मंत्री ने कहा कि नैनोस्निफर की लांचिंग से अन्य संस्थान, स्टार्टअप और मध्यम दर्जे के उद्योग शोध और देश में ही उत्पादों के विकास के लिए प्रोत्साहित होंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत विजन की सराहना करते हुए निशंक ने कहा कि यह उपकरण सौ प्रतिशत मेड इन इंडिया है। इसे आइआइटी बांबे से जुड़े स्टार्टअप नैनोस्निफ टेक्नोलाजीस ने विकसित किया है और इसकी मार्केटिंग आइआइटी दिल्ली से पूर्व में जुड़े रहे स्टार्टअप क्रिटिकल साल्यूशंस के बाईप्रोडक्ट विहंत टेक्नोलाजीस ने की है। इसकी बुनियादी तकनीक का अमेरिका और यूरोप में पेटेंट कराया गया है। यह उपकरण सभी तरह के विस्फोटकों की पहचान करने के साथ ही उनका वर्गीकरण भी कर सकता है।