इंडोनेशिया के पापुआ में विरोधियों से जबर्दस्त संघर्ष, ब्रिगेडियर जनरल की मौत

Facebook

इंडोनेशिया के पापुआ संघर्ष में ब्रिगेडियर जनरल की मौैत

इंडोनेशिया के पापुआ प्रांत में जारी जबर्दस्त संघर्ष में इंटेलीजेंस एजेंसी चीफ ब्रिगेडियर जनरल गुस्ती डेनी नुग्राहा के नेतृत्व में सेना और इंटेलीजेंस फोर्स ने संयुक्त ऑपरेशन शुरू किया था और विद्रोहियों के हमले में उनकी मौत हो गई।

जकार्ता, एपी।  इंडोनेशिया के पापुआ प्रांत में सुरक्षा बलों और विद्रोहियों के बीच चल रहे संघर्ष में ब्रिगेडियर जनरल की मौैत हो गई। अधिकारियों ने उनकी मौैत की पुष्टि की है। पापुआ प्रांत में 8 अप्रैल से विद्रोहियों और सुरक्षा बलों के बीच जबर्दस्त संघर्ष चल रहा है। संघर्ष की शुरूआत उस समय हुई, जब विद्रोहियों ने तीन स्कूलों में आग लगा दी और एक अध्यापक की हत्या कर दी। घटना के बाद विद्रोहियों पर कार्रवाई के लिए सेना और इंटेलीजेंस फोर्स ने संयुक्त ऑपरेशन शुरू कर दिया। सेना का मानना है कि इन घटनाओं में फ्री पापुआ आर्गनाइजेशन की सैनिक विंग पापुआ लिबरेशन आर्मी का हाथ है।

पापुआ इंटेलीजेंस एजेंसी चीफ ब्रिगेडियर जनरल गुस्ती डेनी नुग्राहा इस ऑपरेशन का नेतृत्व कर रहे थे। वह जिस समय पेट्रोलिंग कर रहे थे, तभी विद्रोहियों ने हमला कर दिया। पापुआ पुर्तगाल के नियंत्रण था। जिसे इंडोनेशिया को 1969 में सौंपा गया था। यहां विद्रोही संगठन पहले से ही सक्रिय थे, जिनसे इंडोनेशिया अब जूझ रहा है।  पापुआ इंडोनेशिया में 1969 में शामिल हुआ था।