आरएसएस की सलाह, योग और काढ़ा भगाएगा कोरोना; एप के जरिए दी जानकारी

 

संघ ने दिन में तीन बार काढ़ा का प्रयोग करने की सलाह दी है। (फाइल फोटो)

आरएसएस ने देशवासियों को सूर्य नमस्कार भस्ति्रका प्राणायाम अनुलोम-विलोम व भ्रामरी को अपनी दिनचर्या से जोड़ने की सलाह दी है। ये योग व्यक्ति में रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाते हैं। इससे कोरोना समेत सभी तरह के रोगों से लड़ने में मदद मिलती है।

बिलासपुर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने शाखा एप के जरिए स्वयंसेवकों समेत देशवासियों को सूर्य नमस्कार, भस्ति्रका, प्राणायाम, अनुलोम-विलोम व भ्रामरी को अपनी दिनचर्या से जोड़ने की सलाह दी है। ये योग व्यक्ति में रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाते हैं। इससे कोरोना समेत सभी तरह के रोगों से लड़ने में मदद मिलती है। साथ ही काढ़ा का सेवन करने की सलाह देते हुए इसे बनाने की विधि भी बताई गई है।

एप में संघ ने बताया कि अस्थमा, डायबिटीज व हृदय रोगी कोरोना के संक्रमण से गंभीर रूप से ग्रस्त हो जाते हैं। अफवाहों से सावधान करते हुए बताया है कि ऐसा कोई प्रमाण नहीं है कि नियमित रूप से सलाइन से नाक धोने पर कोरोना संक्रमण से बचाव होता है। यह भी बताया है कि गर्म और आ‌र्द्र जलवायु वाले क्षेत्रों में संक्रमण फैल सकता है।

अल्ट्रावायलेट का उपयोग कीटाणुमुक्त बनाने के लिए नहीं किया जाना चाहिए। यह त्वचा में जलन पैदा कर सकता है। मच्छर के काटने से कोरोना नहीं फैल सकता। थर्मल स्केनर ऐसे लोगों की पहचान कर सकता है, जिन्हें बुखार है। कोरोना से संक्रमित लोगों का पता नहीं चल सकता। एंटीबायोटिक्स संक्रमण के खिलाफ काम नहीं करते हैं। एंटीबायोटिक्स केवल बैक्टीरिया से हुए संक्रमण को दूर सकते हैं।

दिन में तीन बार करें काढ़ा का प्रयोग

संघ ने दिन में तीन बार काढ़ा का प्रयोग करने की सलाह दी है। इसके अनुसार बारीक से कूटी हुई पांच से 10 इंच नीम और गिलोय की डंठल, पांच से 10 तुलसी के पत्ते, दो से पांच काली मिर्च, 1/4 से 1/2 चम्मच हल्दी और अदरक लेना है। इन्हें 100 ग्राम जल में उबाल लें। पानी एक चौथाई होने के बाद काढ़ा तैयार है।

ऐसे बनाएं देसी सैनिटाइजर

एप में सैनिटाइजर बनाने का तरीका भी बताया गया है। इसके अनुसार एक लीटर पानी में 100 ग्राम नीम के पत्ते और 20 से 25 ग्राम तुलसी के पत्ते को उबालें। जब पानी 600 मिलीलीटर हो जाए तो उसमें पांच से 10 ग्राम कपूर व फिटकरी डालें। ये सैनिटाइजर हाथों की सफाई के लिए अत्यंत उपयोगी है।