आसानी से पैसे कमाने के चक्कर में युवक गंवा बैठा डेढ़ लाख रुपये,

 

पिछले साल अगस्त से अक्टूबर के बीच हुई साइबर ठगी: Demo pic

रोहित ने युवक के पास कई लड़कियों और महिलाओं के फोटो भेजे और कहा कि ये महिलाएं उसकी ग्राहक हैं। उसे इनसे मुलाकात करनी होगी। इस काम के लिए उसे पैसे मिलेंगे। वक रोहित की बातों में आ गया।

फरीदाबाद  । दिल्ली से सटे फरीदाबाद में जिगोलो बनकर पैसे कमाने के चक्कर में एक युवक साइबर ठगों के चंगुल में फंस गया। ठगों ने उससे डेढ़ लाख रुपये हड़प लिए। ठगी का अहसास होने पर उसने पुलिस को शिकायत दी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। सेक्टर-21डी निवासी युवक ने पुलिस को बताया है कि कोरोना काल में उसकी नौकरी छूट गई। उसे रुपयों की जरूरत थी।

आसानी से रुपये कमाने का लालच उसके मन में आ गया और उसने जिगोलो बनने की सोची। उसने गूगल पर इस संबंध में तलाश करना शुरू किया। उसे एक नंबर मिला। काल करने पर एक व्यक्ति से बात हुई। उसने अपना नाम रोहित बताया और कहा कि वह जिगोलो एजेंट है। उसने युवक को काम दिलाने का आश्वासन दिया।

रोहित ने युवक के पास कई लड़कियों और महिलाओं के फोटो भेजे और कहा कि ये महिलाएं उसकी ग्राहक हैं। उसे इनसे मुलाकात करनी होगी। इस काम के लिए उसे पैसे मिलेंगे। युवक रोहित की बातों में आ गया। उसने पंजीकरण, मेडिकल फीस, पुलिस वैरिफिकेशन सहित कई मदों में युवक से करीब डेढ़ लाख रुपये अलग-अलग खातों में मंगवा लिए।

युवक ने बताया है कि उसके साथ अगस्त 2020 से अक्टूबर 2020 तक हुई। जब ठगों द्वारा रुपयों की मांग खत्म नहीं हुई तो उसे ठगी का अहसास हुआ और पुलिस को शिकायत दी। पुलिस तभी से मामले की जांच कर रही थी। शिकायत सही पाए जाने पर अब मुकदमा दर्ज किया गया है।

पंजाब में चेयरमैन बनाने के नाम पर ठगे 1.63 करोड़ रुपये

वहीं, पंजाब सरकार में चेयरमैन बनाने के नाम पर बल्लभगढ़ में एक व्यक्ति से 1.63 करोड़ रुपये ठगने के आरोप में पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। इस बाबत पुलिस आयुक्त ओपी सिंह को सेक्टर-8 के रहने वाले मुनीष गर्ग ने शिकायत दी थी। शिकायत में उसने बताया कि वह मूल रूप से पंजाब पटियाला का रहने वाला है। यहां कार बेचने व खरीदने का काम करता है। कथित तौर पर एक नेता ने कहा कि उसे पंजाब सरकार में चेयरमैन बनवा सकते हैं, लेकिन एक करोड़ रुपये देने होंगे।

बात पर विश्वास करके चेयरमैन बनने के बारे में उसने स्वजन से बातचीत करके तीन किस्त में एक करोड़ रुपये दे दिए। बाद में बड़े नेताओं को रुपये देने के नाम पर 63 लाख रुपये और दे दिए। जब लगा कि ये उसके साथ ठगी की गई, तब उनसे रुपये मांगने शुरू कर दिए। अब ये लोग उसके परिवार को मारने की धमकी देने लगे।