रेलवे ने अपने लाखों यात्रियों को दी राहत भरी खबर, बेफिक्र होकर करें सफर

 

पटरी पर लौटीं 88 फीसद ट्रेनें। फाइल फोटो।
रेलवे अधिकारियों का कहना है कि कई शहरों में लाकडाउन और दिल्ली में रात का कर्फ्यू लगने पर कुछ लोग अफवाह फैलाने में लग गए हैं। लोग रेलवे स्टेशनों पर भीड़ बढ़ने की झूठी सूचनाएं फैलाकर भ्रम पैदा कर रहे हैं।

नई दिल्ली। यात्रियों को कहीं आने जाने में किसी तरह की असुविधा हो न इसके लिए उत्तर रेलवे ट्रेनों की संख्या बढ़ा रहा है।अ अभी लगभग 88 फीसद ट्रेनें पटरी पर लौट गई हैं। आने वाले दिनों में यह संख्या और बढ़ेगी। रेलवे अधिकारियों का दावा है कि ट्रेन परिचालन में किसी तरह की दिक्कत नहीं है। स्टेशनों पर सभी जरूरी प्रबंध किए गए हैं। स्टेशनों पर यात्रियों की संख्या भी सामान्य है।

लाॅकडाउन की अफवाह फैलाने में लगे हैं कुछ लोग

रेलवे अधिकारियों का कहना है कि कई शहरों में लाकडाउन और दिल्ली में रात का कर्फ्यू लगने पर कुछ लोग अफवाह फैलाने में लग गए हैं। लोग रेलवे स्टेशनों पर भीड़ बढ़ने की झूठी सूचनाएं फैलाकर भ्रम पैदा कर रहे हैं। उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी दीपक कुमार के अनुसार यह भ्रम फैलाया जा रहा है कि रात का कर्प्यू लगने के बाद दिल्ली के रेलवे स्टेशनों खासकर नई दिल्ली और आनंद विहार में यात्रियों की भीड़ बढ़ गई है। इसमें कोई सच्चाई नहीं है। उन्होंने कहा कि रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों की संख्या सामान्य है। 

इस कारण स्टेशनों पर नहीं बढ़ सकती है भीड़

उन्होंने बताया कि कोरोना संकट शुरू होने से पहले पिछले वर्ष दिल्ली क्षेत्र से 375 ट्रेनें चलती थीं। इस समय 305 ट्रेनें चल रही हैं। एक्सप्रेस बनकर चलने वाली लोकल ट्रेनों को छोड़कर अन्य सभी ट्रेनों में सिर्फ कंफर्म आरक्षित टिकट लेकर ही यात्री सफर कर सकता है। प्लेटफार्म पर सिर्फ कंर्फम टिकट वालों को प्रवेश मिलता है, इसलिए स्टेशनों पर भीड़ बढ़ने की कोई गुंजाइश नहीं है।

बता दें कि दिल्ली, गाजियाबाद एवं नोएडा में सरकार ने रात्रि कर्फ्यू लगा दिया है। इस कारण लोगों को स्टेशन आने में परेशानी ना हो इसके लिए सरकार ने पहले ही यह बता दिया है कि अगर किसी को स्टेशन जाना या आना है तो वह अपने टिकट दिखा कर यात्रा कर सकता है।