श्रीलंका में मिला स्ट्रेन अब तक का सबसे घातक कोरोना वायरस, हवा में बना रहता है एक घंटे

 

पड़ोसी देश श्रीलंका में कोरोना वायरस का एक नया स्ट्रेन मिला है जो अब तक का सबसे घातक है।

भारत समेत पूरे विश्व में कोरोना संक्रमण के हालात पहले ही बेकाबू हो चुके हैं। ऐसे में एक और बुरी खबर यह है कि पड़ोसी देश श्रीलंका में कोरोना वायरस का एक नया स्ट्रेन मिला है जो अब तक का सबसे घातक है।

कोलंबो, पीटीआइ। भारत समेत पूरे विश्व में कोरोना संक्रमण के हालात पहले ही बेकाबू हो चुके हैं। ऐसे में एक और बुरी खबर यह है कि पड़ोसी देश श्रीलंका में कोरोना वायरस का एक नया स्ट्रेन मिला है जो अब तक का सबसे घातक है। यह स्ट्रेन एयरबोर्न है जो हवा को संक्रमित करता है। यानी आप अगर किसी संक्रमित व्यक्ति के सीधे संपर्क में नहीं भी आते हैं तो यह स्ट्रेन हवा में फैलकर भी आपको संक्रमित कर सकता है।

श्रीलंका की जयवर्देनापुरा यूनिवर्सिटी में इम्यूनोलिजी एंड मॉलिक्यूलर साइंसेज विभाग की प्रमुख नीलिका मालाविगे ने शनिवार को बताया कि यह स्ट्रेन बेहद आसानी से और बहुत तेजी से फैलता है। इसकी वजह यह है कि ये हवा में एक घंटे तक बना रहता है। उन्होंने बताया कि श्रीलंका में पाए गए अब तक के सभी वैरियंट में कोरोना का यह स्ट्रेन सबसे अधिक घातक और तेजी से फैलने वाला है।

श्रीलंका के स्वास्थ्य प्रशासन को डर है कि नया स्ट्रेन पिछले हफ्ते नववर्ष समारोह से फैलना शुरू हुआ है। इसीलिए इसका सबसे अधिक संक्रमण युवाओं में अधिक फैला हुआ है। जनस्वास्थ्य इंस्पेक्टर उपल रोहाना का कहना है कि अगले दो-तीन हफ्ते में इस संक्रमण के फलने-फूलने से यह संक्रमण इतना अधिक फैल सकता है कि तीसरी लहर आ जाए।

इस बीच कोविड से बचाव के लिए 31 मई तक नई गाइडलाइंस को जारी कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पहले संक्रमण के लक्षण इतने साफ और स्पष्ट नहीं थे। बल्कि अब जो लोग इस संक्रमण के शिकार पाए गए हैं, अब युवाओं में यह संक्रमण अधिक देखने को मिल रहा है