किसान नेता ने प्रशासन को दी खुली चुनौती, कहा- कोरोना टेस्ट के लिए जबदरस्ती नहीं करे प्रशासन

 

किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी की फाइल फोटो।

किसान नेताओं की जिला प्रशासन के साथ एक काफी अहम बैठक हुई। इसमें किसान नेता की ओर से जारी बयान काफी हैरान करने वाले हैं। मीटिंग के बाद बाहर निकले किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि किसान मोर्चे पर कोरोना टेस्ट नहीं होंगे।

सोनीपत। किसान आंदोलन से एक बड़ी खबर आ रही है जो हमें डराने वाली है। देश में बढ़ते कोरोना के संक्रमण के बीच ऐसी खबरें हमें परेशान कर सकती हैं। गुरुवार को सोनीपत के राई रेस्ट हाउस में किसान नेताओं की जिला प्रशासन के साथ एक काफी अहम बैठक हुई। इस बैठक में किसान नेता की ओर से जारी बयान काफी हैरान करने वाले हैं। मीटिंग के बाद बाहर निकले किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि किसान मोर्चे पर कोरोना टेस्ट नहीं होंगे। इतना ही नहीं उन्होंने यह भी कहा कि किसानों को वैक्सीन लगवाना है या नहीं यह फैसला सिर्फ किसान लेंगे। उन्होंने प्रशासन को खुली चुनौती देते हुए कहा कि कोरोना टेस्ट के लिए हमसे जबरदस्ती नहीं की जा सकती है। अगर जबरन किया गया तो हम जिला प्रशासन को मोर्चे के अंदर घुसने ही नहीं देंगे।