एंटीलिया व मनसुख मामले में मुंबई पुलिस के एक और अधिकारी को एनआइए ने किया गिरफ्तार

 

एंटीलिया व मनसुख मामले में मुंबई पुलिस के एक और अधिकारी को एनआइए ने किया गिरफ्तार। फाइल फोटो

 एंटीलिया के पास विस्फोटक से भरी एसयूवी मिलने और मनसुख हिरन की हत्या के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने मुंबई पुलिस के इंस्पेक्टर सुनील माने को गिरफ्तार किया है। इस मामले में अब तक मुंबई में तीन पुलिस अधिकारियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

मुंबई, प्रेट्र। : उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास एंटीलिया के पास विस्फोटक से भरी एसयूवी मिलने और मनसुख हिरन की हत्या के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) ने शुक्रवार को मुंबई पुलिस के इंस्पेक्टर सुनील माने को गिरफ्तार किया है। इस मामले में अब तक मुंबई में तीन पुलिस अधिकारियों को गिरफ्तार किया जा चुका है, जिनमें निलंबित सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वाझे और उनका सहयोगी रियाज काजी शामिल है। एक अधिकारी ने कहा कि माने को एनआइए ने वीवार को एंटीलिया मामले और मनसुख हिरन हत्या के मामलों में पूछताछ के लिए बुलाया था। इस मामले में संलिप्तता का पता चलने के बाद उसे गिरफ्तार किया गया। अधिकारी ने कहा कि माने को अदालत में पेश किया जाएगा। गिरफ्तारी के बाद माने को मेडिकल चेकअप के लिए एक राजकीय अस्पताल में ले जाया गया।

केंद्रीय एजेंसी ने इससे पहले दो और लोगों को गिरफ्तार किया था निलंबित मुंबई पुलिस के सिपाही विनायक शिंदे और क्रिकेट सट्टेबाज नरेश गोर। माने मुंबई क्राइम ब्रांच की यूनिट 11 (कांदिवली) के प्रभारी थे। माने को एंटीलिया मामले के मद्देनजर स्थानांतरित किया गया था। अधिकारी ने कहा कि एनआइए ने कुछ सप्ताह पहले अपना बयान दर्ज किया था। माने से महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने पूछताछ की थी, लेकिन वरिष्ठ अधिकारियों ने तब दावा किया था कि वह जांच में इसके साथ सहयोग कर रहा था। विस्फोटक से भरी एसयूवी 25 फरवरी को दक्षिण मुंबई में अंबानी के घर के पास मिली थी। ठाणे के एक व्यवसायी हीरन ने दावा किया था कि वह एसयूवी के कब्जे में है, लेकिन एंटीलिया के पास से वाहन चोरी हो गया था। हिरन का शव पांच मार्च को ठाणे में एक नाले में मिला था। हिरण की विधवा विमला ने एटीएस को दिए अपने बयान में कहा था कि चार मार्च को घर से निकलते समय उसके पति ने उसे बताया था कि उसे 'तवाडे' से फोन आया था। कांदिवली के एक पुलिस अधिकारी से वह उससे मिलने जा रहा था।