यूपी व हरियाणा से दिल्ली में नहीं आने दी जा रही ऑक्सीजन, प्लांट पर तैनात की पुलिस; दखल दे केंद्र: मनीष सिसोदिया


उत्तर प्रदेश व हरियाणा आक्सीजन नहीं लाने दे रहे, केंद्र दे दखलः सिसोदिया

सिसोदिया ने कहा कि केंद्र दखल करे नहीं तो दिल्ली के मरीजाें को बचा पाना मुश्किल हो जाएगा। अगर हम बढ़े हुए कोटा को भी छोड़ दें तो केंद्र ने दिल्ली का कोटा 378 मीट्रिक टन कर रखा था वह भी नहीं दिया जा रहा है।

नई दिल्ली । राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते ही कई अस्पतालों में आक्सीजन का संकट और बढ़ गया है। सरोज अस्पताल, तीरथ राम अस्पताल में आक्सीजन कुछ घंटों की बची है। इसकी जानकारी देते हुए डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि कुछ अस्पतालों से फोन आ रहे हैं कि आक्सीजन नहीं है क्या करें। यह स्थिति तब है जब केंद्र सरकार ने दिल्ली का कोटा बढ़ा दिया है मगर उत्तर प्रदेश, हरियाणा आक्सीजन नहीं लाने दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र दखल करे नहीं तो दिल्ली के मरीजाें को बचा पाना मुश्किल हो जाएगा। अगर हम बढ़े हुए कोटा को भी छोड़ दें तो केंद्र ने दिल्ली का कोटा 378 टन कर रखा था, वह भी नहीं दिया जा रहा है। मगर बुधवार को दोनों राज्याें से केवल 177 टन आक्सीजन ही आ सकी।

मनीष सिसोदिया ने कहा कि हरियाणा व यूपी दोनों राज्यों ने जंगल राज बनाया हुआ है। प्लांटों पर पुलिस बैठा दी है। दिल्ली के टैंकर न ही प्लांट में जाने दे रहे और न ही प्लांट से दिल्ली में आक्सीजन आने दे रहे हैं। बुधवार को पानीपत से आक्सीजन नहीं आने दी गई। रात तीन बजे जब हरियाणा सरकार के अधिकारी और पुलिस प्लांट से हटी तो ट्रक निकल पाए।

केंद्र को पैरामिलेट्री फाेर्स लगानी पडे़ तो वह भी करेः सिसोदिया

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री ने कहा कि यह समय आपस में मिलकर काम करने का है। दोनों राज्य इस तरह आक्सीजन रोकेंगे तो दिल्ली को बहुत बड़ी मुश्किल हो जाएगी। केंद्र सरकार तुरंत हस्तक्ष्रेप करे, जब दिल्ली का कोटा उसने दिया है तो आक्सीजन क्यों रोकी जा रही है। चाहे केंद्र को पैरामिलेट्री फाेर्स लगानी पडे़ या और कुछ करना पड़े, केंद्र करे। क्योंकि इन राज्यों की पुलिस को दिल्ली की आक्सीजन को रोकने में इस्तेमाल किया जा रहा है। डिप्टी सीएम ने कहा कि अस्पताल वाले कह रहे हैं कि आक्सीजन नहीं मिलेगी तो इधर उधर से सिलेंडर जुगाड़ कर ज्यादा नहीं चला पाएंगे।

सीएम केजरीवाल ने की हरियाणा के मुख्यमंत्री से बात

सीएम केजरीवाल ने ट्वीट कर बताया कि उन्होंने गुरुवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल से बात की। उन्होंने हरियाणा से दिल्ली तक ऑक्सीजन ट्रकों के परिवहन की सुविधा में अपना समर्थन दिया। उन्होंने ऑक्सीजन की सप्लाई में मदद देने का भरोसा दिया है।

वहीं, शांति मुकंद हास्पिटल के सीइओ सुनील सागर ने कहा कि दिल्ली में ऑक्सीजन की किल्लत हो गई है। शायद ही किसी अस्पताल में ऑक्सीजन बचे हैं। हमने डॉक्टरों से रोगियों को छुट्टी देने का अनुरोध किया है, जिन्हें छुट्टी दी जा सकती है।