चुनाव के दौरान हिंसा रोकने की जिम्मेदारी सिर्फ केंद्रीय बलों की नहीं, राज्य पुलिस को भी करनी होगी कार्रवाई : अधीर

 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी मीडिया से मुखातिब

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान हिंसा रोकने की जिम्मेदारी सिर्फ केंद्रीय बलों की नहीं है बल्कि राज्य पुलिस को भी कार्रवाई करने होगी। चुनाव आयोग ने बंगाल में स्थिति को नियंत्रित करने की पूरी कोशिश की है।

राज्य ब्यूरो, कोलकाता : प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान हिंसा रोकने की जिम्मेदारी सिर्फ केंद्रीय बलों की नहीं है बल्कि राज्य पुलिस को भी कार्रवाई करने होगी। बुधवार को कोलकाता प्रेस क्लब में मीडिया से मुखातिब हुए अधीर ने कहा-'हर चीज के लिए पूरी तरह से केंद्रीय बलों पर निर्भर रहने से नहीं चलेगा। राज्य पुलिस को भी कदम उठाना होगा।

महिला राजनेताओं पर हमले और बूथों पर लूटपाट की घटनाओं पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने राज्य सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि उसने कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए कुछ नहीं किया है। बंगाल के अलावा तीन और राज्यों व एक केंद्र शासित प्रदेश में चुनाव हो रहे हैं लेकिन यहां छोड़कर कहीं भी हिंसा, बूथों में लूट की घटनाएं नहीं हो रहीं। केंद्र और बंगाल के सत्ताधारी दलों ने आपस में संघर्ष करके हालात को गंभीर बना दिया है। चुनाव आयोग ने बंगाल में स्थिति को नियंत्रित करने की पूरी कोशिश की है हालांकि वह सभी घटनाओं को रोकने में सफल नहीं हुई है। जब प्रचार मंच से गठबंधन में साझेदार माकपा को 'तानाशाह कह बैठे अधीर 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी चुनावी जनसभा में सबके सामने संयुक्त मोर्चा में साझेदार माकपा को 'तानाशाह कह बैठे। मंच पर वाममोर्चा के अध्यक्ष विमान बोस, त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री मानिक सरकार समेत माकपा के कई नेता मौजूद थे। अलीपुरदुआर के नवीन क्लब के मैदान में वक्तव्य रखते वक्त उनके मुंह से माकपा के लिए यह कठोर शब्द निकल गया। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।