क्या कोरोना की दूसरी लहर के बीच ट्रेन सेवाओं पर लगेगी रोक? जानें- रेलवे ने क्या कहा

 

रेलवे बोर्ड ने साफ किया है कि ट्रेनों को रोकने की अभी कोई योजना नहीं (फाइल फोटो)

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन सुनीत शर्मा ने कहा कि जो लोग यात्रा करना चाहते हैं उनके लिए ट्रेनों की कोई कमी नहीं है। मैं सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि मांग के अनुसार ट्रेनें चलाईं जाएंगी। इन महीनों में रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों की संख्या सामान्य देखी गई।

नई दिल्ली, एएनआई। कोरोना महामारी की दूसरी लहर खतरनाक रूप लेती जा रही है। इस बीच रेलवे बोर्ड के चेयरमैन सुनीत शर्मा ने रेल सेवाओं को लेकर बड़ा बयान दिया है। रेलवे बोर्ड ने साफ किया है कि ट्रेनों को रोकने या उसपर पाबंदी लगाने की अभी कोई योजना नहीं है। 

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन सुनीत शर्मा ने कहा कि जो लोग यात्रा करना चाहते हैं, उनके लिए ट्रेनों की कोई कमी नहीं है। मैं सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि मांग के अनुसार ट्रेनें चलाईं जाएंगी। इन महीनों में रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों की संख्या सामान्य देखी गई, हम जरूरत के अनुसार ट्रेनों की संख्या बढ़ाएंगे। यात्रियों के बड़ी संख्या होने की वजह से, हम कोरोना वायरस से संक्रमित ना होने की पुष्टि करने वाली रिपोर्ट नहीं मांग सकते। रेल सेवाओं को रोकने या कम करने की कोई योजना नहीं है

चेयरमैन सुनीत शर्मा ने आगे कहा कि महाराष्ट्र में जिन मजदूरों के पलायन की बात कही जा रही है वो पलायन नहीं है बल्कि ये रेलवे के सामान्य यात्री हैं। नाईट कर्फ्यू से बचने के लिए ये जल्दी स्टेशन पहुंच जाते हैं जिसकी वजह से भीड़ दिखाई दे रही है। यहां ट्रेनों की आवाजाही रोकने या कम करने के लिए अभी तक कोई आधिकारिक परिपत्र नहीं मिला है।

भारतीय रेलवे प्रति दिन 1,402 स्पेशल ट्रेन चला रही

वहीं रेल मंत्रालय ने बताया कि भारतीय रेलवे प्रति दिन औसतन 1,402 स्पेशल ट्रेन चला रही है। कुल 5,381 उपनगरीय ट्रेन सेवाएं और 830 यात्री ट्रेन सेवाएं चालू हैं। और 28 विशेष ट्रेनों को उच्च संरक्षा के साथ अत्यधिक संरचित ट्रेनों के क्लोन के रूप में संचालित किया जा रहा है।