आम आदमी पार्टी ने भाजपा पर लगाया काम नहीं करने देने का आरोप, कहा- निगम नहीं बांट रहा बच्चों को राशन

 

आप नेता भारद्वाज ने कहा कि केंद्र ने घर-घर राशन योजना को बिना वजह रोक दिया।
आप प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने प्रेसवार्ता कर कहा कि उत्तर नगर निगम के 700 स्कूलों में पढ़ने वाले चार लाख गरीब बच्चों के हक पर भाजपा कुंडली मार कर बैठी हुई है। दिल्ली सरकार द्वारा मुहैया कराए गए राशन को बच्चों में नहीं बांट रही है।

नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। आम आदमी पार्टी (आप) ने आरोप लगाया है कि नगर निगम के स्कूलों में पढ़ने वाले लाखों बच्चों में सूखा राशन बांटने के लिए भाजपा अभी तक टेंडर तक नहीं कर पाई है। आप प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने प्रेसवार्ता कर कहा कि उत्तर नगर निगम के 700 स्कूलों में पढ़ने वाले चार लाख गरीब बच्चों के हक पर भाजपा कुंडली मार कर बैठी हुई है। दिल्ली सरकार द्वारा मुहैया कराए गए राशन को बच्चों में नहीं बांट रही है।

उत्तरी नगर निगम ने राशन बांटने के लिए अभी तक टेंडर प्रक्रिया भी नहीं शुरू की है। उन्होंने कहा कि भाजपा गरीब विरोधी है और इसीलिए भाजपा की केंद्र सरकार ने दिल्ली सरकार की घर-घर राशन योजना को बिना वजह ही रोक दिया। भाजपा वाले कह रहे कि केजरीवाल सिर्फ गरीबों का भला कर रहा है और इसीलिए देश भर से गरीब दिल्ली में आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग अपने शासित राज्यों में क्यों नहीं अच्छे काम कर रहे हैं, जिससे कि वहां से गरीब लोग दिल्ली न आएं।

भारद्वाज ने कहा कि 19 मार्च को भाजपा दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता, उत्तरी नगर निगम के महापौर जयप्रकाश और स्थायी कमेटी के अध्यक्ष छैल बिहारी गोस्वामी समेत भाजपा के नेताओं ने नगर निगम स्कूलों में सूखा राशन वितरण करने की योजना का उद्घाटन किया था। इन्होंने सिर्फ एक स्कूल के अंदर यह राशन बांटा है। यह राशन भी इसलिए बांटा गया, क्योंकि इन्हें उद्घाटन करना था। इसके बाद इस योजना को बंद कर दिया है। अब पता चला है कि सूखा राशन वितरण करने के लिए टेंडर की प्रक्रिया नहीं शुरू की गई है।

भाजपा ने आरोप को बेबुनियाद बताया

वहीं, भाजपा ने आप के आरोप को बेबुनियाद बताया है। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने कहा है कि आप नेताओं में नगर निगमों के खिलाफ मनगढ़ंत व बेबुनियाद आरोप लगाने की प्रतियोगिता चल रही है। उन्होंने कहा कि नगर निगम के स्कूलों में छात्रों के लिए कच्चे राशन के वितरण की योजना शुरू की गई है। इस योजना में मिड डे मील के लिए आवंटित राशन का उपयोग किया जा रहा है, इसलिए फिलहाल किसी नए टेंडर की जरूरत नहीं है। जरूरत के अनुसार अप्रैल 2021 के बाद नया टेंडर जारी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि आप विधायक सौरभ भारद्वाज को नगर निगमों पर अनर्गल आरोप लगाने की जगह जनता को यह बताना चाहिए कि दिल्ली सरकार के स्कूलों में एक माह में ही राशन वितरण योजना क्यों बंद कर दी गई।