हैदराबाद व पंजाब के बीच चल रहे आइपीएल में सट्टा लगाने वाले गिरोह का पर्दाफाश, दो गिरफ्तार

 Facebook

पुलिस ने हैदराबाद व पंजाब के बीच चल रहे आइपीएल में सट्टा लगवाने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया।

एसओजी व डालनवाला कोतवाली पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए हैदराबाद व पंजाब के बीच चल रहे आइपीएल में सट्टा लगवाने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है। उनके पास से एक टीवी 12 मोबाइल फोन व 43 हजार रुपये नकदी बरामद की है।

संवाददाता, देहरादून: एसओजी व डालनवाला कोतवाली पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए हैदराबाद व पंजाब के बीच चल रहे आइपीएल में सट्टा लगवाने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है। उनके पास से एक टीवी, 12 मोबाइल फोन व 43 हजार रुपये नकदी बरामद की है। एसओजी प्रभारी एश्वर्यापाल ने बताया कि सूचना मिली थी कि डालनवाला कोतवाली क्षेत्र स्थित इसी रोड स्टार टावर बिल्डंग के टॉप फ्लोर पर बुधवार को चल रहे हैदराबाद व पंजाब के बीच आइपीएल मैच में सट्टा लगाया जा रहा है। 

सूचना पर सीओ सिटी, एसओजी की टीम व निरीक्षक डालनवाला स्टार टावर बिल्डंग में पहुंचे। बिल्डिंग के टॉप फ्लोर पर मौजूद कमरे को खुलाया गया तो कमरे में दो व्यक्ति बैठे हुए थे। कमरे में लैपटॉप, 12 मोबाइल फोन चालू हालत में मिले, जिनमें आनलाइन सट्टा चल रहा था। इसके अलावा कमरे में एक टीवी पर चल रहा था, जिसमें पंजाब व हैदराबाद के बीच आइपीएल मैच चल रहा था। बैड पर रुपये, स्वैप मशीन व डेविट कार्ड भी रखे हुए थे। सीओ सिटी शेखर सुयाल ने कमरे में बैठे दोनों युवकों से उनका नाम पूछा तो उन्होंने अपना नाम विकास अरोड़ा व विशाल बंसल दोनों निवासी सुभाष नगर गांधी कॉलोनी, मुजफ्फरनगर यूपी बताया। 

पकड़े गए दोनों आरोपितों ने बताया कि दोनों मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं। पहले से ही दोनों आइपीएल मैचों में सट्टा लगाते हैं। पकड़े न जाने की वजह से उन्होंने 10 दिन पहले ही नदीम अहमद के मकान स्टार टावर में 5500 रुपये किराए पर कमरा लिया था व वह यहां बैठकर मुजफ्फरनगर के व्यक्तियों को आइपीएल मैच का सट्टा खिला रहे थे। आरोपितों ने बताया कि टीम का रेट दिल्ली से मिलता है। सारा सट्टा एप के माध्यम से चलता है। इसमें ज्यादातर पैसा आनलाइन लगता है।