दानापुर के सीओ और हुसैनगंज की बीडीओ की कोरोना से मौत

 

हुसैनगंज की बीडीओ और दानापुर के सीओ। फाइल फोटो

राज्‍य में कोरोनावायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। अब बच्‍चे और युवा भी इसकी चपेट में आ रहे हैं। राज्‍य का रिकवरी रेट भी गिर कर 79 फीसद के करीब आ गया है।

पटना, ऑनलाइन डेस्‍क। राज्‍य में कोरोनावायरस के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। हर उम्रवर्ग के लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं। खासकर बच्‍चे और युवाओं में संक्रमण का दर तेजी से बढ़ रहा है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय ने बताया है कि राज्‍य में कोरोना जांच का आंकड़ा दो करोड़ 57 लाख से ज्‍यादा हाे गया है। कुल दो करोड़ 57 लाख 51 हजार 146 लोगों की जांच हो चुकी है। शुक्रवार को चौबीस घंटे में एक लाख आठ हजार 147 लोगों की जांच की गई। मंत्री ने कहा है कि बिहार मेंं 24 घंटे में 6067 मरीज स्‍वस्‍थ हुए। रिकवरी दर 79.28 फीसद है। स्‍वस्‍थ मरीजों का कुल आंकड़ा तीन लाख 12 है। वर्तमान में एक्टिव मरीज 76419 हैं।  

02:00 PM: कोविड केयर के रूप में चल रहे बिहटा के सिकंदरपुर ईएसआइसी अस्पताल एंड मेडिकल कॉलेज में सीट बढ़ाने के लिए आर्मी मेडिकल कोर की टीम एवं स्‍थानीय अधिकारियों के बीच आज बैठक आयोजित की गई। यहां फिलहाल केवल 50 बेड पर कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज की सुविधा दी गई है। कोरोना की पहली लहर के वक्‍त यहां 500 बेड का अस्‍पताल बनाया गया था।

01:38 PM: मधुबनी में कोरोना से शनिवार को एक शख्स की कोविड सेंटर में मौत हो गई। घटना रामपट्टी कोविड केयर सेंटर का है। बताया जाता है कि मृतक बासोपट्टी प्रखंड के डामु पंचायत का रहने वाला था। वह कई दिनों से कोरोना संक्रमित होकर अस्पताल में था। 

01:10 PM: केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह शनिवार की सुबह आरा सदर अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने चिकित्सकों के साथ मारपीट की निंदा की। कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों के साथ जो भी मारपीट करेगा उसे जेल भेजा जाएगा। 

12:20 PM:  राज्‍य में कोरोनावायरस की दहशत के बीच राज्‍य स्‍वास्‍थ्‍य निदेशालय ने आमजन के लिए सलाह दी है। स्‍वास्‍‍‍‍थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने इसे ट्विटर हैंडल पर पोस्‍ट किया है। इसमें कहा गया है कि ऐसे संक्रमित जिनमें बुखार, गले में खराश, नाक बहना, शरीर एवं सिरदर्द, थकान, पेट में मरोड़, दस्‍त, स्‍वाद एवं सूंघने की क्षमता में कमी के लक्षण हों। श्‍वसन दर 24 प्रति मिनट से कम होना एवं सांस लेने में दिक्‍क नहीं होना जैसे लक्षण हो तों होम आइसोलेशन या कोविड केयर सेंटर में कुछ दवाएं ली जा सकती हैं। इसमें बताया गया कि पारासिटामोल टेबलेट (आवश्‍यकतानुसार), डॉक्सिसाइक्‍लाइन (Doxycycline) 100 एमजी दो बार पांच दिनों तक लें। हालांकि यह टैबलेट गर्भवती, प्रसूता या 12 वर्ष से कम आयु के बच्‍चों को नहीं देना है। अजीथ्रोमाइसिन 500 एमजी दिन में एक बार पांच दिनों तक लेना है। विटामिन सी 500 एमजी टैबलेट दो बार दस दिनों तक, बी कांप्‍लेक्‍स रात में एक बार दस दिनों तक, जिंक 50 एमजी एक टैबलेट दस दिनों तक लेना है। इसके अलावा Ivermectin डॉक्‍टर की सलाह के अनुसार। इस दौरान खानपान सामान्‍य रखें। शरीर में पानी की कमी नहीं होने दें। दिन में दो बार भाप लें और नमक  युक्‍त पानी से गलाला करें।  

11:50 AM: पटना के आइजीआइएमएस (IGIMS) में कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज करा रहे लोग बिहार सरकार के फैसले से काफी खुश हैं। मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने एलान किया है कि इस अस्‍पताल में कोरोना मरीजों के इलाज का पूरा खर्च सरकार वहन करेगी। आइजीआइएमएस सरकारी क्षेत्र का अस्‍पताल है, जहां कम लागत पर मरीजों का उपचार किया जाता है।

11:20 AM: सिवान के हुसैनगंज में पदस्‍थापित प्रखंड विकास पदाधिकारी मनीषा प्रसाद का कोरोना वायरस संक्रमण के कारण निधन हो गया है। वे नालंदा जिले के हरनौत से तबादले के बाद हाल में ही अपने नए कार्यालय में योगदान की थीं। उनका इलाज पटना के एक अस्‍पताल में चल रहा था।

9:50 AM: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल  पांडेय ने ट्वीट किया है, मिलकर संग, जीतेंगे कोरोना से जंग। इसमें उन्‍होंनेशिकायत, सुझाव एवं उपचार के लिए 1070 नंबर डायल करने की सलाह दी है। प्रत्‍येक जिले में कोविड के उपचार के लिए 24 घंटे डेडिकेटेड कोविड सेंटर कार्यरत है। 

8:45 AM: बिहार में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने और इलाज के लिए सरकार की ओर से किए गए इंतजामों को पटना हाईकोर्ट ने नाकाफी बताया है। कोर्ट ने एक ईमेल आइडी जारी करने का फैसला किया है, जिसके जरिये सीधे आम लोगों से फीडबैक लिया जाएगा। इसके लिए संबंधित अधिकारी को निर्देश दिया गया है।

8:15 AM: पटना जिले के दानापुर के अंचलाधिकारी (CO) विद्या नंदराय का निधन शनिवार की सुबह हो गया ।कोरोना संक्रमित होने के बाद उन्‍हें दानापुर के ही हाईटेक अस्‍पताल में भर्ती कराया गया। वहां उन्‍होंने दम तोड़ दिया।  गौरतलब है कि एक दिन पहले अरवल के डीएम रह चुके स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के वरीय अधिकारी रविशंकर चौधरी भी कोरोना से हार गए थे। 

7:30 AM: पटना के एनएमसीएच और दरभंगा के डीएमसीएच में डॉक्‍टरों की हड़ताल के बाद अब भोजपुर जिले के आरा सदर अस्‍पताल में शुक्रवार रात मारपीट और तोड़फोड़ की घटना के कारण आधी रात को डॉक्‍टर और स्‍वास्‍थ्‍यकर्मी ड्यूटी छोड़कर भाग निकले। इस वजह से इमरजेंसी और कोविड वार्ड में मरीजों को देखने वाला कोई नहीं है। इस कारण अफरातफरी की स्थिति बनी हुई है। 

7: AM : गया के वरीय पुलिस अधीक्षक आदित्‍य कुमार भी कोरोना की जद में आ गए हैं। उन्‍होंने स्‍वयं इसकी जानकारी दी है। कहा है कि वे कोरोना संक्रमित हो गए हैं। खुद को घर में आइसोलेट कर लिया है। परिवार और सुरक्षाबलों से अलग रह रहे हैं। फिलहाल उन्‍हें कोई परेशानी नहीं है। एसएसपी ने पुलिस अधिकारियों से कहा है कि जो भी एक सप्‍ताह के अंदर उनके संपर्क में आए हैं, अपनी कोरोना जांच जरूर करा लें।

राज्‍य का संक्रमण दर 11.71 फीसद के आसपास 

राज्‍य का संक्रमण दर भी 11.71 फीसद के आसपास पहुंच गया है। हालांकि राहत की बात यह भी है कि कोरोना को हरानेवाले की संख्‍या संक्रमित होनेवालों की तुलना में ज्‍यादा है। खासकर पटना जिले में कोरोना के एक्टिव केस की संख्या बीत 48 घंटे के दौरान लगभग स्थिर हो गई है।  23 अप्रैल को पटना में 2549 नए संंक्रमित मिले जिसमें दूसरे जिले के 132 लोग हैं। इनमें पटना जिले के 2417 नए कोरोना मरीज हैं। राहत की बात है कि जिले में स्वस्थ्य होने वाले की संख्या 3417 है। चौबीस घंटे में 54 लोगों की मौत हुई।