भारतीय मूल के व्यवसायी यूसुफ अली को मिला सर्वोच्च नागरिक सम्मान

 

यूएई का शीर्ष नागरिक सम्मान प्राप्त करते व्यवसायी यूसुफ अली।

भारतीय मूल के व्यवसायी को यूएई में मिला सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार। यूएई के क्राउन प्रिंस शेष मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने कुल 11 लोगों को शीर्ष नागरिक पुरस्कार से किया सम्मानित।

अबू धाबी। भारतीय मूल के एनआरआई व्यवसायी यूसुफ अली एमए को अबू धाबी के क्राउन प्रिंस शेष मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने शीर्ष नागरिक पुरस्कार से सम्मानित किया है। व्यवसायी यूसुफ अली एमए, प्रतिष्ठित खुदरा समूह लुलु के अध्यक्ष हैं। उन्हें ये सम्मान अबू धाबी के व्यापार व उद्योग में उत्कृष्ट योगदान और उनकी विभिन्न परोपकारी गतिविधियों के लिए प्रदान किया गया है।

सम्मान प्राप्त कने के बाद यूसुफ अली ने कहा, 'ये मेरे जीवन में एक बहुत ही गर्व और भावनात्मक क्षण। मैं अबू धाबी में 47 वर्षों से रह रहा हूं और यहां का शीर्ष नागरिक सम्मान प्राप्त कर मै अभिभूत हूं। मैं नए सपनों और आशाओं के साथ, 31 दिसंबर 1973 को यहां आया था। इस दौरान मैंने कई उतार-चढ़ाव देखे और विभिन्न चुनौतियों का डटकर सामना किया।' उन्होंने यूएई के दूरदर्शी नेतृत्व के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा, ये देश शेख मोहम्मद बिन जायद के नेतृत्व में विकास कर रहा है।

यूसुफ अली ने अपनी कामयाबी का श्रेय यूएई के शासकों, परिचितों की दुआओं और प्रवासी समुदाय के सहयोग को दिया। उन्होंने कहा कि उनकी कामयाबी में उनके भारतीय भाई-बहन भी शामिल हैं और वो ये सम्मान अपने सभी समर्थकों को समर्पित करते हैं।

सम्मान प्राप्त करने वाले 11 लोगों में एकमात्र भारतीय

इस मौके पर क्राउन प्रिंस ने 11 प्रमुख हस्तियों को शीर्ष नागरिक सम्मान से नवाजा है। इनमें यूसुफ अली एकमात्र भारतीय हैं। ये पुरस्कार प्रत्येक वर्ष उन लोगों को दिया जाता है, जिन्होंने अबू धाबी के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

फोर्ब्स बिलियनेयर सूची में भी शामिल

हाल में यूसुफ अली ने फोर्ब्स बिलियनेयर 2021 की सूची में भी स्थान बनाया था। उन्हें मध्य पूर्व में सबसे अमीर भारतीय का स्थान हासिल किया था। पहले भी उन्हें कई पुरस्कार मिले हैं, जिनमें 2005 का प्रवासी भारतीय सम्मान, 2008 का पद्म श्री, 2014 में 'द किंग ऑफ बहरीन' अवार्ड और 2017 में 'ब्रिटिश क्वीन अवार्ड' शामिल हैं।

कोरोना के खिलाफ जंग में की भारत की मदद

स्वास्थ्य, शिक्षा और सामुदायिक कल्याण के क्षेत्र में अपने देश के लिए कुछ करने की बात आती है तो यूसुफ अली सबसे आगे रहते हैं। वर्तमान करोना महामारी के दौरान उन्होंने भारत में रु 50 करोड़ से अधिक का योगदान दिया है। इसमे पीएम केयर फंड के लिए 25 करोड़, केरल के मुख्यमंत्री राहत कोष में 10 करोड़ रुपये, यूपी सीएम राहत कोष में 5 करोड़, हरियाणा सीएम राहत कोष में 1 करोड़ रुपये का दान शामिल है।