रोजाना बढ़ रहे कोरोना के मरीज, दिल्ली के अस्पतालों में भरने लगे बेड, सरकार चिंतित

 

आठ अप्रैल को भर्ती होने वाले कोरोना मरीजों की संख्या 44 व नौ अप्रैल को 65 रही।

राजधानी में कोरोना का संक्रमण बेकाबू होने के बाद अब अस्पतालों में भी मरीजों का दबाव बढ़ने लगा है। इसी क्रम में दिल्ली सरकार के सबसे बड़े अस्पताल लोकनायक में पिछले 24 घंटे में करीब 69 मरीज भर्ती हुए हैं।

नई दिल्ली। राजधानी में कोरोना का संक्रमण बेकाबू होने के बाद अब अस्पतालों में भी मरीजों का दबाव बढ़ने लगा है। इसी क्रम में दिल्ली सरकार के सबसे बड़े अस्पताल लोकनायक में पिछले 24 घंटे में करीब 69 मरीज भर्ती हुए हैं। इनमें से 67 मरीज कोरोना संक्रमित व दो मरीज दूसरी बीमारियों से पीड़ित हैं।

इसके साथ ही 24 कोरोना मरीजों को ठीक होने पर छुट्टी मिली। वहीं, चार अन्य बीमारियों से पीड़ित मरीजों को भी छुट्टी मिली। साथ ही पिछले एक सप्ताह से लगातार अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या बढ़ रही है। इनमें कोरोना के साथ ही दूसरी बीमारियों से पीड़ित मरीज भी शामिल हैं। फिलहाल अस्पताल में कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित 1500 बेड में से शाम सात बजे तक कुल 325 बेड पर कोरोना मरीज भर्ती हो चुके हैं।

इनमें से दो बेड पर यूके स्ट्रेन के मरीज भी भर्ती हैं। वहीं, 137 मरीज आइसीयू में भर्ती हैं। अगर अस्पताल में पिछले एक सप्ताह में भर्ती होने वाले मरीजों की बात करें तो तीन अप्रैल से इनकी संख्या लगातार बढ़ रही है। तीन अप्रैल को अस्पताल में 20 कोरोना संक्रमित मरीज भर्ती हुए थे। उसके बाद से यह आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। आठ अप्रैल को भर्ती होने वाले कोरोना मरीजों की संख्या 44 व नौ अप्रैल को 65 रही।

कुछ प्रमुख अस्पतालों में भरे व खाली बेड का आंकड़ा

अस्पताल का नाम भरे बेड खाली बेड

लोकनायक 325 1175

राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी 225 275

जीटीबी 97 903

बुराड़ी अस्पताल 160 160

राम मनोहर लोहिया 88 94

लेडी हार्डिंग 68 79

एम्स 214 51

सर गंगाराम 60 60