कई इलाके का दौरा कर पुलिस आयुक्त ने वीकेंड कर्फ्यू का लिया जायजा

दिल्ली के पुलिस आयुक्त एस एन श्रीवास्तव निर्देश देते हुए।

आयुक्त ने जिन क्षेत्रों का दौरा किया उनमें अंतर आलिया समस्तपुर पिकेट अक्षरधाम गाजीपुर क्रॉसिंग महाराजपुर चेक पोस्ट एनएच 24 आनंद विहार जगतपुरी कृष्णा नगर न्यू उस्मानपुर सिग्नेचर ब्रिज मजनू का टीला आईएसबीटी कश्मीरी गेट राजघाट और तिलक मार्ग शामिल हैं।

नई दिल्ली । पुलिस आयुक्त एस एन श्रीवास्तव ने शनिवार को पूर्वी, उत्तर पूर्वी और शाहदरा आदि इलाके का दौरा कर दिल्ली में सप्ताहांत लगाए गए दो दिन की कर्फ्यू में पुलिस व्यवस्था का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने पुलिस कर्मियों को बेवजह सड़को पर घूमने वालों के साथ सख्ती से पेश आने के निर्देश दिए।

आयुक्त ने जिन क्षेत्रों का दौरा किया उनमें अंतर आलिया, समस्तपुर पिकेट, अक्षरधाम, गाजीपुर क्रॉसिंग, महाराजपुर चेक पोस्ट, एनएच 24 आनंद विहार, जगतपुरी, कृष्णा नगर, न्यू उस्मानपुर, सिग्नेचर ब्रिज, मजनू का टीला, आईएसबीटी कश्मीरी गेट, राजघाट और तिलक मार्ग शामिल हैं। इन जगहों पर पुलिस कर्मी सुरक्षा में मुस्तेद पाए गए। जगह जगह पुलिसकर्मी पीए सिस्टम और फ्लेक्सी सूचनात्मक बोर्डों का उपयोग करके लोगों को जागरूक करते देखे गए।

इस दौरान आयुक्त ने पिकेट दुइटी करने वाले कर्मियों के साथ बातचीत की औऱ कर्फ्यू निर्देशों को ठीक तरीके से लागू करने के लिए दोहराया। इस दौरान उन्होंने लोगों और वाहनों की जांच करते समय कर्मचारियों को दृढ़ और विनम्र रहने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सप्ताहांत कर्फ्यू के निर्देशों की अवहेलना करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। हालांकि, उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि जरूरतमंद और वास्तविक व्यक्तियों को दया के साथ निपटाया जाना चाहिए और उनके परेशानी को हल किया जाना चाहिए।

इस अवसर पर आयुक्त के साथ विशेष आयुक्त कानून एवं व्यवस्था राजेश खुराना, संयुक्त आयुक्त आलोक कुमार आदि सभी रेंज और जिले के अधिकारी मौजूद थे। जहां जहां भी पिकेट्, गश्त ड्यूटी, मार्केट मॉल और अन्य जगहों पर पुलिस बल की कमी पाई गई वहां संख्या बढ़ाने के निर्देश दिए गए।

शनिवार को कर्फ्यू लगे होने के कारण दिल्ली में सभी जगह सन्नाटा पसरा रहा। लोग अपने अपने घरों में ही कैद रहे। बाजार पूरी तरह बंद होने के कारण लोग घरों से नही निकले। जिन्हें अस्पताल, रेलवे स्टेशन आदि जाना था केवल वही सड़को पर मूव करते देखे गए। हर जिले में पुलिस कर्मी सड़को पर पूरी तरह मुस्तेद दिखे। पिकेट लगाकर पुलिस कर्मी वाहनों और पैदल यात्रियों की जांच करते देखे गए। बसों को भी रोक कर उसमें सवार यात्रियों से पूछताछ कर यह जानने की कोशिश की गई कि कही कोई बिना वजह तो घूम नही रहा है।