सातवें चरण के मतदान से पहले मुर्शिदाबाद में तृणमूल व माकपा समर्थकों में संघर्ष, कई जख्मी

सातवें चरण के मतदान से पहले मुर्शिदाबाद में तृणमूल व माकपा समर्थकों में संघर्ष, कई जख्मी। फाइल फोटो

 मुर्शिदाबाद जिले की नौ विधानसभा सीटों पर सोमवार को होने वाले मतदान से पहले शनिवार की रात को ही जिले के डोमकल विधानसभा क्षेत्र में तृणमूल कांग्रेस और माकपा समर्थकों के बीच जमकर संघर्ष हुआ जिसमें कई लोग जख्मी हो गए।

राज्य ब्यूरो, कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 में सातवें चरण में मुर्शिदाबाद जिले की नौ विधानसभा सीटों पर सोमवार को मतदान होना है। उससे पहले शनिवार की रात को ही जिले के डोमकल विधानसभा क्षेत्र में तृणमूल कांग्रेस और माकपा समर्थकों के बीच जमकर संघर्ष हुआ, जिसमें कई लोग जख्मी हो गए। शनिवार रात को डोमकल के वार्ड नंबर 15 का सेखलीपाड़ा में दोनों पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच जमकर मारपीट हुई। माकपा ने आरोप लगाया कि उनके कार्यकर्ता अब अचानक तृणमूल समर्थकों ने हमला कर दिया। बांस और राड से पीटा गया। हमले में कई लोगों जख्मी हो गए। बाद में स्थानीय लोगों के आने पर वे लोग भाग गए। इलाके में इस घटना के बाद से तनाव है। खबर मिलते ही पुलिस व केंद्रीय बल की टीम मौके पर पहुंच गई है गश्त तेज कर दी है।

वहीं, शनिवार रात को कोलकाता के मानिकतल्ला इलाके के मुरारीपुकुर क्षेत्र में तृणमूल की महिला कार्यकर्ताओं से छेड़खानी के आरोप भाजपा कार्यकर्ताओं पर लगे हैं। इसके मद्देनजर रविवार को भी क्षेत्र में तनाव का माहौल है। स्थिति को देखते हुए इलाके में पुलिस गश्त तेज कर दी गई है। स्थानीय सूत्रों के अनुसार, मानिकपुर बाजार में फल खरीदने के लिए तृणमूल की दो महिला कार्यकर्ता गई थीं. आरोप है कि फल विक्रेता और उसके दोस्तों ने कथित तौर पर महिलाओं के साथ छेड़खानी की। दावा है कि ऐसा करने वाले सभी भाजपा कार्यकर्ता हैं जिसके बाद तृणमूल कार्यकर्ता उनके खिलाफ थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने जा रहे थे। उसी समय थाने के सामने भाजपा कार्यकर्ता भी एकत्रित हो गए। आरोप है कि पुलिस के सामने ही तृणमूल कार्यकर्ताओं ने भाजपा कार्यकर्ताओं को मारा-पीटा जिसके बाद आक्रोशित भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़ की। इसके बाद देर रात तक पुलिस ने इलाके में छापेमारी कर भाजपा के कई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है।