सुमित्रा महाजन के निधन की अफवाह उड़ा कर फंसे शशि थरूर, ताई ने लगाई फटकार; मामले में केस दर्ज


पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के निधन को लेकर फैली अफवाह। (फोटो: दैनिक जागरण)

पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन को लेकर इंटरनेट पर अफवाह फैलाई गई। कांग्रेस नेता शशि थरूर ने अफवाह के बाद कर दिया था ट्वीट। भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने किया था गलत संदेश का खंडन। ताई ने खबर को खुद बताया अफवाह।

इंदौर। कोरोना के इलाज के लिए इंदौर के निजी अस्पताल में भर्ती पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन को लेकर गुरुवार को इंटरनेट मीडिया पर चले भ्रामक संदेशों के मामले में इंदौर में मामला दर्ज किया गया है। पूर्व पार्षद सुधीर देड़गे की शिकायत पर सर्राफा थाना पुलिस ने शुक्रवार को अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ धारा 188 (भ्रामक जानकारी प्रसारित करने) के तहत मामला दर्ज किया है। बता दें कि ताई के नाम से विख्यात सुमित्रा महाजन को लेकर कांग्रेस नेता शशि थरूर ने ट्वीट किया था। कुछ न्यूज चैनलों ने भी गलत खबर प्रसारित कर दी थी। इसके बाद ताई और उनके स्वजन देर रात तक परेशान रहे। 

भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय ने गलत संदेश का खंडन करते हुए सुमित्रा महाजन के स्वस्थ होने के बारे में ट्वीट से जानकारी दी थी। बाद में थरूर ने इस मामले में माफी मांगी थी। इस मामले में सुमित्रा महाजन ने कहा कि बगैर पुष्टि के भ्रामक खबरें नहीं चलानी चाहिए। प्रशासन से पुष्टि करनी चाहिए। सरकार को भी इस बारे में संज्ञान लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि अफवाह किसने फैलाई यह तो मुझे नहीं मालूम, लेकिन इससे मेरी उम्र और बढ़ गई। देर रात तक मुझे और स्वजन को लोगों के फोन आते रहे।

कोरोना रिपोर्ट निगेटिव, अभी अस्पताल में चल रहा इलाज

सुमित्रा महाजन बुखार की शिकायत के बाद इंदौर के बाम्बे अस्पताल में भर्ती हैं। उनकी कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है, लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें फिलहाल डिस्चार्ज नहीं किया है। उनकी अन्य जांचें भी की जा रही हैं। महाजन के परिवार में दो सदस्य कोरोना से संक्रमित हैं। ताई ने दैनिक जागरण के सहयोगी प्रकाशन 'नईदुनिया' से कहा कि कोरोना को लेकर राजनीति नहीं होनी चाहिए। यह संकट का समय है।