सावधान! कोरोना को लेकर फैलाई जा रही भ्रामक जानकारी, कोई आशंका हो तो डॉक्टर से लें सलाह

 

कोरोना वायरस और टीकाकरण पर भ्रामक जानकारी फैलाई जा रही , रहें सावधान (फाइल फोटो)

ट्विटर ने हाल ही में कई ऐसे ट्वीट्स डिलीट किए हैं जिनके जरिए कोरोना पर भ्रामक जानकारी फैलाई जा रही थी। ट्विटर प्रवक्ता ने रविवार को इसकी जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि अकाउंट्स को ब्लॉक नहीं किया गया है उन्हें मेल के जरिए कार्रवाई की जानकारी दी गई है।

नई दिल्ली, एजेंसी। कोरोना से जुड़ी फेक व भ्रामक जानकारी पर सख्ती दिखाते हुए सरकार ने इंटरनेट मीडिया प्लेटफॉर्म्स से ऐसी 100 पोस्ट और यूआरएल हटाने को कहा है। इसका असर भी दिखा है। ट्विटर ने हाल ही में कई ऐसे ट्वीट्स डिलीट किए हैं, जिनके जरिए कोरोना पर भ्रामक जानकारी फैलाई जा रही थी। ट्विटर प्रवक्ता ने रविवार को इसकी जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि अकाउंट्स को ब्लॉक नहीं किया गया है, उन्हें मेल के जरिए कार्रवाई की जानकारी दी गई है। सरकार ने कहा कि फेक न्यूज फैलाने के लिए ये एक्शन लिया गया है इसलिए नहीं कि हमारी आलोचना की जा रही थी।

वहीं पीएम मोदी ने आज मन की बात में कहा कि कोरोना के इस संकट काल में वैक्‍सीन की अहमियत सभी को पता चल रही है, इसलिए मेरा आग्रह है कि वैक्‍सीन को लेकर किसी भी अफवाह में न आएं। आप सभी को मालूम भी होगा कि भारत सरकार की तरफ से सभी राज्‍य सरकारों को फ्री वैक्‍सीन भेजी गई है। जिसका लाभ 45 साल की उम्र से अधिक के लोग ले सकते हैं। अब तो 1 मई में देश में 18 साल से अधिक के हर व्‍यक्ति के लिए वैक्‍सीन उपलब्‍ध होने वाली है।

डॉक्टर से संपर्क कर सलाह लें

पीएम मोदी ने कहा कि मैं आप सबसे आग्रह करता हूं, आपको अगर कोई भी जानकारी चाहिए हो, कोई और आशंका हो तो सही नंबर से ही जानकारी लें। आपके जो भी सवाल हों, आसपास के जो डॉक्टर्स हों, आप उनसे फोन से संपर्क करके सलाह लीजिए। पीएम मोदी ने कहा इस समय हमें इस लड़ाई को जीतने के लिए एक्‍सपर्ट और वैज्ञानिक सलाह को प्राथमिकता देनी है। राज्‍य सरकार के प्रयासों को आगे बढ़ाने में भारत सरकार पूरी शक्ति के साथ जुटी है। राज्‍य सरकारें भी अपना दायित्‍व निभाने की पूरी कोशिश कर रही हैं। पीएम मोदी ने कहा कि मैं आप सभी से आग्रह करता हूं कि आपको अगर कोई जानकारी चाहिए हो, कोई और आशंका हो तो सही सोर्स से ही जानकारी लें। आपके जो फैमली डॉक्‍टर हों, आसपास के जो डॉक्‍टर्स हों तो उनसे फोन से संपर्क करके सलाह लीजिए।

ट्विटर ने कहा- गलत जानकारी को रोकना हमारी प्राथमिकता

ट्विटर ने कहा कि हम कोरोना पर गलत जानकारियों को हैंडल कर रहे हैं। इसके लिए हम प्रोडक्ट, टेक्नोलॉजी और ह्यूमन रिव्यू का इस्तेमाल कर रहे हैं और हमारी कोशिशें आगे भी जारी रहेंगी। ये हमारी प्राथमिकता है।

सरकार बोली- कई हैंडल 24 घंटे सिर्फ हमारी बुराई कर रहे हैं

उधर, सरकार ने ट्विटर के एक्शन पर कहा है कि इन अकाउंट्स पर एक्शन इसलिए नहीं लिया गया हैं, क्योंकि वो सरकार की कोविड के हालात को नियंत्रित करने की शैली की आलोचना कर रहे थे। बल्कि ये कदम इसलिए उठाया गया है, क्योंकि ये पुरानी तस्वीरों और गलत खबरों के जरिए जनता में अफवाहें और डर फैला रहे थे। सरकार ने कहा कि कई ट्विटर हैंडल 24 घंटे सरकार की आलोचना कर रहे हैं, पर हमने इन्हें ब्लॉक करने के लिए ट्विटर से नहीं कहा।