चीन में कार्यरत बैंक अफसर की कोरोना से मौत, वालंटियर ने दी मुखाग्नि; पत्नी-बेटे को वीडियो काल से करवाए अंतिम दर्शन

 

चीन की शेनझेन बैंक में नौकरी करने वाले मनोज कुमार शर्मा की सोमवार को कोरोना से मौत हो गई

चीन की शेनझेन बैंक में नौकरी करने वाले मध्य प्रदेश के सिवनी निवासी मनोज कुमार शर्मा की सोमवार को कोरोना से मौत हो गई। वे करीब 12 दिन पूर्व कोरोना संक्रमित होने के चलते इंदौर के अरबिंदो अस्पताल में भर्ती थे।

इंदौर, राज्य ब्यूरो। चीन की शेनझेन बैंक में नौकरी करने वाले मध्य प्रदेश के सिवनी निवासी मनोज कुमार शर्मा की सोमवार को कोरोना से मौत हो गई। वे करीब 12 दिन पूर्व कोरोना संक्रमित होने के चलते इंदौर के अरबिंदो अस्पताल में भर्ती थे। उनकी पत्नी विनीला और बेटा मिराज फिलहाल चीन में ही हैं और कोविड-19 के नियमों के कारण भारत नहीं आ सकते। मंगलवार दोपहर विनीला ने दिल्ली में रहने वाले सीआरपीएफ के एक परिचित अफसर से बात कर मनोज के अंतिम संस्कार की इच्छा जताई। अफसर ने इंटरनेट पर इंदौर के वालंटियर यश पाराशर का नंबर तलाशकर पूरा घटनाक्रम बताया। तब इंदौर में यश पाराशर व पुलिस अधिकारियों ने अंतिम संस्कार कर श्रद्घांजलि दी।

उन्हें फूल पसंद हैं, प्लीज आप चढ़ा देना

वालंटियर यश ने एएसपी (इंदौर पश्चिम-2) डा. प्रशांत चौबे को पूरा घटनाक्रम बताया और कहा कि वह मृतक मनोज की पत्नी और बेटे की तरफ से मुखाग्नि देना चाहता है। तब एएसपी ने एडीएम राजेश राठौर की मदद से इंदौर के पंचकुईया मुक्तिधाम में शव मंगवाया और श्मशान दरोगा से लकड़ियों का इंतजाम करने को कहा। विनीला ने कहा, पति को फूल बहुत पसंद थे, इसलिए उन्हें फूल अर्पित कर दें। अंतिम बार वीडियो काल कर दर्शन भी करवा दें। इस पर वीडियो काल कर विनीला और मिराज को अंतिम दर्शन भी करवाए। यश ने मनोज को मुखाग्नि दी और एएसपी ने फूल अर्पित किए।

वृद्ध मां के लिए रुके थे मनोज

मनोज करीब तीन महीने पूर्व पिता का निधन होने पर चीन से सपरिवार मध्य प्रदेश के सिवनी आए थे। मां का स्वास्थ्य खराब होने के कारण वे सिवनी रुक गए, जबकि पत्नी विनीला और मिराज को चीन भेज दिया था। इस बीच उन्हें भी कोरोना संक्रमण हो गया। उपचार के लिए वे सिवनी से इंदौर आ गए थे, जहां सोमवार को उन्होंने दम तोड़ दिया।