देश में फैला है माफिया, कारोबार पर है बुकीज का राज, इनका अब बच पाना मुश्किल- इमरान खान


इमरान खान ने दिए लेागों के सवालों के जवाब

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि देश में भ्रष्‍टाचार बहुत गहरा है जिसे हटाने के लिए उन्‍हें देश की जनता का साथ चाहिए। उन्‍होंने ये भी कहा कि वो अकेले इससे नहीं निपट सकते हैं।

इस्‍लामाबाद (एजेंसी)। पाकिस्‍तान में महंगाई सातवें आसमान पर पहुंच गई है। सरकार से लेकर आम आदमी तक हर कोई इससे परेशान है। इससे निपटने के लिए पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सभी से अपील की है कि वो इससे एकजुट होकर लड़ें। इसके लिए उन्‍होंने देश में फैले भ्रष्‍टाचार रोकने, लोगों पर भारी पड़ रही महंगाई दर को कम करने और कोरोना महामारी पर लगाम लगाने के लिए देश की जनता से मदद मांगी है। इसके अलावा उन्‍होंने देश में बढ़ते बेहूदापन को रोकने में भी लोगों की मदद मांगी है। उन्‍होंने देश को भरोसा दिलाया कि वह कोई भी ऐसा फैसला नहीं लेंगे जो देश के हितों के खिलाफ हो, इसमें भारत से व्यापार और आईएमएफ कंडीशन भी शामिल हैं। उन्‍होंने कहा कि वो अकेले इन सभी समस्‍याओं से नहीं निपट सकते हैं। इसलिए उन्‍हें इसमें देश की जनता का साथ चाहिए। उन्‍होंने टेलिथॉन के तीसरी पब्लिक इंटरैक्‍शन के दौरान कही।

पाकिस्‍तान के अखबार द डॉन की खबर के मुताबिक, पाक पीएम ने कहा कि बदलाव कभी भी रातों रात नहीं आता है। आर्थिक स्थिरता लाने के लिए विकास के लिए वर्षों की मेहनत और इंतजार करना होता है। उन्‍होंने ये भी कहा कि लोगों को इमरान खान से बहुत सारी उम्‍मीदें हैं कि वो आएगा और देश को बदल कर रख देगा। लेकिन सच्‍चाई ये है कि ऐसा सिर्फ कहानियों में ही होता है। इमरान खान ने कहा कि दो तरह की क्रांति होती हैं। एक खूनी और दूसरी बैलेट से होती है। पाकिस्‍तान तहरीक ए इंसाफ पार्टी बैलेट के जरिए देश की सत्‍ता पर काबिज हुई है। इसलिए बदलाव लाने में उसको कुछ मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। यहां पर देश के धन को लूटने वालों को कोर्ट सुरक्षा प्रदान करती है और वो करोड़ों रुपये स्विस बैंक में रखते हैं।

एक महिला के महंगाई के बाबत सवाल किए जाने पर इमरान खान ने कहा कि देश की आर्थिक स्थिति लगातार सुधर रही है। इसलिए देश की जनता को डरना नहीं चाहिए। सरकार जल्‍द ही बढ़ती कीमतों को काबू में कर लेगी। उन्‍होंने कहा कि इसके लिए सरकार ने जरूरी चीजों की कीमतों पर चेक लगाया है। लाहौर में इसकी शुरुआत हो चुकी है और जल्‍द ही ये देश के दूसरे शहरों में भी शुरू हो जाएगा। पहली बार देश की अर्थव्‍यवस्‍था स्थिर है और रुपया भी मजबूत हो रहा है। रुपये और डॉलर की कीमत में आई दूरी का असर पावर जनरेशन पर पड़ा है। डीजल की कीमतें बढ़ी हैं और इसकी वजह से दूसरी चीजों की कीमतों पर भी फर्क आया है।

पाकिस्‍तान के पीएम ने लोगों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि सरकार ने 40 लाख टन गेहूं केवल एक वर्ष के अंदर इंपोर्ट किया है। भारी बारिश के कारण फसल तबाह होने की वजह ये कदम उठाना पड़ा। उन्‍होंने ये भी कहा कि देश में माफिया मौजूद हैं। चीनी के कारोबार पर बुकीज का राज है। लेकिन देश के इतिहास में पहली बार हम उनतक पहुंचे हैं। फेडरल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी ने शुगर स्‍केम मे शामिल लोगों का पर्दाफाश किया है और इस दिशा में जांच आगे जा रही है। इन लोगों ने आम जनता का हक मार कर करोड़ों की रकम हासिल की है।देश में फैले कोरोना महामारी पर उन्‍होंने कहा कि इसके लिए सरकार ने स्‍टेंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर (एसओपी) जारी किए हैं।

उन्‍होंने साफतौर पर कहा कि देश में फैली कोरोना की तीसरी लहर पहले से अधिक खतरनाक है। इसलिए कोरोना की रोकथाम को बनाए सभी नियमों को हर देशवासी को ईमानदारी से फॉलो करने की जरूरत है। इमरान ने कहा कि सरकार पर प्रतिबंध लगाने के लिए दबाव है। इसकी वजह वो लोग हैं, जो गाइडलाइंस को नहीं मान रहे हैं। उनका ये रवैया देश को खतरे में डाल सकता है।

भ्रष्‍टाचार पर इमरान ने कहा कि इसकी वजह से देश का बुरा हाल हो गया है। इससे बिना देश की जनता के समर्थन के नहीं लड़ा जा सकता है। भ्रष्‍टाचार पर लगाम लगाने के लिए नेशनल अकाउंटिबिलिटी ब्‍यूरो स्‍वतंत्र तरीके से बेहतर काम कर रहा है। उन्‍होंने कहा कि भ्रष्‍टाचार की वजह से चाहे गरीब हो या अमीर सभी देश हिल सकते हैं। यूएन वाचडॉग की रिपोर्ट का हवाला देते हुए इमरान ने कहा कि सरकार मनी लॉन्ड्रिंग से कमाकर दूसरे देशों में रखे गए पैसे को वापस लाने के लिए प्रतिबद्ध है। भ्रष्‍टाचारी बच नहीं सकेंगे।