बाहरी लोग बंगाल में फैला रहे हैं कोरोना, गुजरातियों के आने पर रोक लगाए चुनाव आयोग: ममता बनर्जी

 

मुख्यमंत्री ने बंगाल में बाहरी लोगों की एंट्री पर रोक लगाने की मांग की

नदिया जिले के नवद्वीप में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए ममता ने बंगाल में कोरोना के बढ़ते मामले के लिए बाहरी लोगों को जिम्मेदार ठहराया और मांग की कि गुजरात के लोगों के बंगाल आने पर चुनाव आयोग तुरंत रोक लगाए।

राज्य ब्यूरो, कोलकाता : बंगाल विधानसभा चुनाव में सत्ता की हैट्रिक लगाने के लिए संघर्ष कर रही तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भाजपा के खिलाफ लगातार मोर्चा खोले हुई हैं। शुक्रवार को नदिया जिले के नवद्वीप में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए ममता ने बंगाल में कोरोना के बढ़ते मामले के लिए बाहरी लोगों को जिम्मेदार ठहराया और मांग की कि गुजरात के लोगों के बंगाल आने पर चुनाव आयोग तुरंत रोक लगाए। कोरोना का मुद्दा उठाते हुए ममता ने कहा कि बंगाल में कोरोना के मामले कम हो गए थे, लेकिन अब फिर से हालत बिगड़ गए हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि बाहरी लोग यहां आकर कोरोना फैला रहे हैं। उन्होंने आयोग से मांग की कि बाहरी लोगों को बंगाल में न आने दिया जाए, खासकर उन्हेंं जो लोग गुजरात से आ रहे हैं। हालांकि, ममता ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां आ सकते हैं। लेकिन कोरोना परीक्षण जरूरी है। उन्होंने सवाल उठाया कि पीएम की रैलियों के लिए मंच बनाने को गुजरात और यूपी से लोगों को लाने की क्या जरूरत है। इसके साथ ही ममता ने राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) का मुद्दा उठाते हुए लोगों से कहा कि भाजपा को वोट दोगे तो असम की तरह बंगाल में भी एनआरसी होगी और कैंप में भेज दिए जाओगे।उन्होंने कहा कि यह चुनाव बंगाल के सम्मान व गौरव को बचाने की लड़ाई है। बाहरी लोग बंगाल में राज करना चाहते हैं, जिसके खिलाफ हम लड़ रहे हैं। आप लोग अपना वोट बर्बाद न करें। भाजपा को वोट दिया तो यहां भी असम की तरह एनआरसी लागू करेंगे और अमित शाह आप लोगों को कैंप में भेज देंगे। हम बंगाल में कभी भी एनआरसी को लागू करने की अनुमित नहीं देंगे।

Ads by Jagran.TV

उन्होंने कहा कि यह चुनाव बंगाल के सम्मान व गौरव को बचाने की लड़ाई है। बाहरी लोग बंगाल में राज करना चाहते हैं, जिसके खिलाफ हम लड़ रहे हैं। आप लोग अपना वोट बर्बाद न करें। भाजपा को वोट दिया तो यहां भी असम की तरह एनआरसी लागू करेंगे और अमित शाह आप लोगों को कैंप में भेज देंगे। हम बंगाल में कभी भी एनआरसी को लागू करने की अनुमित नहीं देंगे।