उदयपुर में एसीबी के डीआइजी बने साइबर क्राइम के शिकार

 

उदयपुर में एसीबी के डीआइजी बने साइबर क्राइम के शिकार। फाइल फोटो

एसीबी को उप महानिरीक्षक कैलाश चंद्र विश्नोई की फर्जी आईडी के जरिए सोशल मीडिया के जरिए लोगों से मदद मांगने जाने की शिकायत मिली है। इस मामले की जांच उदयपुर पुलिस अधीक्षक डॉ. राजीव पचार ने साइबर सैल को सौंपी है।

उदयपुर, संवाद सूत्र। राजस्थान के उदयपुर में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) को उप महानिरीक्षक कैलाश चंद्र विश्नोई की फर्जी आईडी के जरिए सोशल मीडिया के जरिए लोगों से मदद मांग जाने की शिकायत मिली है। इस मामले की जांच उदयपुर पुलिस अधीक्षक डॉ. राजीव पचार ने साइबर सैल को सौंपी है। इससे पहले डीआईजी विश्नोई शिकायती पत्र के माध्यम से पुलिस अधीक्षक से जांच कराए जाने का आग्रह किया था। एसीबी उदयपुर कार्यालय में पदस्थ उप महानिरीक्षक कैलाश चंद्र विश्नोई ने गुरुवार को पुलिस अधीक्षक डॉ. राजीव पचार को भेजे शिकायती पत्र में बताया कि किसी व्यक्ति् ने उनके नाम से फर्जी आईडी बनाकर सोशल अकाउंट पर चैटिंग शुरू कर दी थी। वह लोगों से आर्थिक मदद की अपील भी कर रहा है। फर्जी अकाउंट के लिए हैकर ने उनकी फर्जी आईडी उपयोग में ली है। बताया गया कि फेक अकाउंट के माध्यम से हैकर उनके परिचित व्यक्तियों से सोशल मीडिया के माध्यम से संपर्क साधकर आर्थिक मदद भी मांग रहा है। जिसकी जानकारी उन्हें अपने परिचित लोगों से मिली।

उदयपुर सहित कई जिलों में एसपी रह चुके विश्नोई

आइपीएस कैलाश विश्नोई उदयपुर सहित प्रदेश के अन्य जिलों में भी पुलिस अधीक्षक रह चुके हैं। हाल ही उन्हें उप महानिरीक्षक पद पर पदोन्नति मिली और उदयपुर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो कार्यालय में पदस्थ किया था।

भीलवाड़ा में रेलवे के वाणिज्य अधीक्षक की फेसबुक आईडी हैक

भीलवाड़ा में रेलवे के वाणिज्य अधीक्षक राजकुमार स्वर्णकार की फेसबुक आईडी हैक करने की जानकारी मिली है। हैकर ने मैसेज भेजकर उनके दोस्त के अस्पताल में भर्ती होने की बात कहकर दस हजार रुपए मांगे है। हैकर ने यह संदेश भी लिखा है कि उनके अकाउंट में परेशानी के चलते वह पैसा नहीं भेज पा रहे है। स्वर्णकार ने बताया कि उनके नाम से फर्जी पोस्ट लगभग सौ लोगों को भेजी गई है। उन्होंने बताया कि इस फर्जीवाड़े की जानकारी उन्हें अपने मित्र बार आबू रोड में टिकट कलेक्टर के रूप में तैनात राजीव शर्मा के माध्यम से मिली। इसके बाद शिकायत मिलने पर रेलवे पुलिस ने जांच शुरू की है।