कालका-शिमला रेल ट्रेक पर चलने वाली हिमदर्शन टॉय ट्रेन आज से बंद, कोरोना की पड़ी मार

 

कालका-शिमला हिमदर्शन टॉय ट्रेन बंद। फाइल फोटो

कालका-शिमला के बीच चलने वाली हिमदर्शन टॉय ट्रेन को बंद कर दिया गया है। ऐसा कदम कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए उठाया गया है। सैलानियों की कमी के कारण इन दिनों ट्रेन में यात्रियों की कमी थी।

कालका । वर्ल्ड हेरिटेज में शामिल कालका-शिमला रेल खंड पर चलने वाली टॉय ट्रेन पर छह माह के अंतराल के बाद कोरोना की दोबारा मार पड़ रही है। रेलवे ने कालका से सुबह सात बजे शिमला के लिए चलने वाली हिमदर्शन स्पेशल टॉय ट्रेन का संचालन आज से बंद हो गया है। आज से हिमदर्शन स्पेशल टॉय ट्रेन अगले आदेश तक बंद रहेगी।

अब मात्र तीन टॉय ट्रेन और एक रेलकार ही पटरी पर दौड़ेगी। करीब 118 वर्ष पुराने कालका शिमला रेल खंड के इतिहास में पिछले वर्ष पहली बार ऐसा मौका आया था, जब सभी ट्रेनों के संचालन को बंद कर दिया था। आठ महीने बाद टॉय ट्रेन सेवा बहाल किए जाने के बाद दिसंबर में टॉय ट्रेन सेवा पूरी तरह से पटरी पर आने लगी थी कि चंद ही महीनों के बाद अब दोबारा टॉय ट्रेन का संचालन बंद होने की कगार पर पहुंच गया। पिछले कुछ दिनों से टॉय ट्रेन में यात्रा करने वाले सैलानियों की संख्या में करीब 75 प्रतिशत तक गिरावट आई है। सैलानियों की संख्या मात्र 15 से 20 तक सिमट गई है।

पिछले वर्ष मार्च में टॉय ट्रेन के संचालन पर पहली बार ग्रहण लगा था। टॉय ट्रेन के पहिए करीब आठ महीनों तक थमे रहे। जैसे-तैसे पिछले वर्ष 21 अक्टूबर को विभाग ने शिमला के लिए टॉय ट्रेन सेवा शुरू की थी। उस सयम मजेदार बात यह रही कि पहले दिन चालक व गार्ड को छोड़ कर पूरी शिमला तक ट्रेन खाली रही।