अरविंद केजरीवाल सरकार दिल्ली में लॉकडाउन क्यों नहीं करना चाहती, जानिए ये चार कारण

लॉकडाउन से बाजार, कारोबार और रोजगार तीनों बुरी तरह प्रभावित होते हैं।

 ! कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और रविवार को तो 24 घंटे के दौरान 10000 से ज्यादा केस सामने आए। बावजूद इसके अरविंद केजरीवाल सरकार हर हाल में लॉकडाउन लागू नहीं करना चाहती है आइये जानते हैं इसके 5 बड़े कारण।

नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। दिल्ली सरकार ने सख्ती बढ़ा दी है। इसी कड़ी में पिछले एक सप्ताह ने नाइट कर्फ्यू लगाया गया है, आगामी 30 अप्रैल तक प्रभावी रहेगा। इस बीच कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और रविवार को तो 24 घंटे के दौरान 10,000 से ज्यादा केस सामने आए। बावजूद इसके अरविंद केजरीवाल सरकार हर हाल में लॉकडाउन लागू नहीं करना चाहती है, आइये जानते हैं इसके 4 बड़े कारण। 

अर्थव्यवस्था को होता है घाटा, घट जाती है राजस्व कमाई

कोरोना वायरस संकट की वजह से लगाए गए लॉकडाउन की वजह से राज्यों को बड़ा अर्थव्यवस्था को नुकसान झेलना पड़ता है। पिछले साल मार्च से जून महीने तक देशभर में लगाए गए लॉकडाउन की वजह से कई राज्यों को 90 फीसद तक राजस्व का नुकसान हुआ था। दिल्ली को लॉकडाउन की वजह से 90 फीसद का राजस्व घाटा हुआ था। 2019-20 के वित्तीय वर्ष जो राजस्व 3500 करोड़ रुपये था, वह लॉकडाउन के दौरान सिर्फ 300 करोड़ हो गया।