राजस्थान में कोरोना वैक्सीन की कमी, सीएम अशोक गहलोत ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

 

राजस्थान में कोरोना वैक्सीन की कमी, अशोक गहलोत ने पीएम मोदी लिखा पत्र। फाइल फोटो

 अशोक गहलोत ने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है कि राजस्थान में वैक्सीन का मौजूदा स्टॉक अगले दो दिनों में समाप्त हो जाएगा। उन्होंने टीके की कम से कम 30 लाख से अधिक खुराक को तुरंत प्रदान करने का अनुरोध किया है।

जयपुर, एएनआइ।  मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा है कि राजस्थान में वैक्सीन का मौजूदा स्टॉक अगले दो दिनों में समाप्त हो जाएगा। उन्होंने टीके की कम से कम 30 लाख से अधिक खुराक को तुरंत प्रदान करने का अनुरोध किया है। इस बीच, राजस्थान में कोरोना की दूसरी लहर पीक पर पहुंच रही है। प्रदेश में अप्रैल में संक्रमण की रफ्तार में 1.93 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। मौत के मामले प्रतिदिन पिछले साल मई और जून के मुकाबले ज्यादा आ रहे हैं। बृहस्पतिवार को रिकॉर्ड 3526 संक्रमित मिले और 20 लोगों की मौत हुई। 24 घंटे में इतनी बड़ी संख्या में संक्रमित मिलने और मौत होने से सरकार की चिंता बढ़ गई। पिछले साल मई से लेकर जुलाई तक प्रतिदिन इतने मरीज मिल रहे थे। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जिला कलेक्टरों को गाइडलाइन का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाने और जरूरत पड़ने पर रात्रि कर्फ्यू का समय बढ़ाने को लेकर निर्णय करने के लिए कहा है। टेस्टिंग की गति को भी तेज करने के लिए कहा गया है।Facebook

राजस्थान में कोरोना वैक्सीन की कमी, अशोक गहलोत ने पीएम मोदी लिखा पत्र। फाइल फोटो

 अशोक गहलोत ने पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है कि राजस्थान में वैक्सीन का मौजूदा स्टॉक अगले दो दिनों में समाप्त हो जाएगा। उन्होंने टीके की कम से कम 30 लाख से अधिक खुराक को तुरंत प्रदान करने का अनुरोध किया है।

जयपुर, एएनआइ। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा है कि राजस्थान में वैक्सीन का मौजूदा स्टॉक अगले दो दिनों में समाप्त हो जाएगा। उन्होंने टीके की कम से कम 30 लाख से अधिक खुराक को तुरंत प्रदान करने का अनुरोध किया है। इस बीच, राजस्थान में कोरोना की दूसरी लहर पीक पर पहुंच रही है। प्रदेश में अप्रैल में संक्रमण की रफ्तार में 1.93 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। मौत के मामले प्रतिदिन पिछले साल मई और जून के मुकाबले ज्यादा आ रहे हैं। बृहस्पतिवार को रिकॉर्ड 3526 संक्रमित मिले और 20 लोगों की मौत हुई। 24 घंटे में इतनी बड़ी संख्या में संक्रमित मिलने और मौत होने से सरकार की चिंता बढ़ गई। पिछले साल मई से लेकर जुलाई तक प्रतिदिन इतने मरीज मिल रहे थे। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जिला कलेक्टरों को गाइडलाइन का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ सख्त कदम उठाने और जरूरत पड़ने पर रात्रि कर्फ्यू का समय बढ़ाने को लेकर निर्णय करने के लिए कहा है। टेस्टिंग की गति को भी तेज करने के लिए कहा गया है।

प्रदेश में सबसे ज्यादा जयपुर में 658, जोधपुर में 372, उदयपुर में 497, कोटा में 310, चित्तौड़गढ़ में 125, अलवर में 174, डूंगरपुर में 215, राजसमंद में 109 संक्रमित मिले हैं। सबसे कम एक मरीज जैसलमेर और आठ झुंझुनूं में मिले हैं। वहीं, मृतकों में सात जयपुर, तीन उदयपुर, कोटा व राजसमंद में दो-दो, अजमेर, बीकानेर, जालौर,पाली और सिरोही में एक-एक संक्रमित मिले हैं। उधर, महाराष्ट्र में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लोग अब वहां नहीं जाना चाहते। लगातार फ्लाइट्स और ट्रेन की टिकट निरस्त करवाई जा रही है। संक्रमण का डर बृहस्पतिवार को मुंबई जाने वाली तीन उड़ानों पर देखने को मिला। यात्रियों की संख्या कम होने के कारण ये उड़ानें रद करनी पड़ीं। जयपुर हवाई अड्डा अधिकारियों के अनुसार मुंबई की तीन और एक अहमदाबाद की उड़ान रद हुई है। अब तक तीन लाख 50 हजार 317 संक्रमित मिलने के साथ ही 2886 लोगों की मौत हुई है। अब तक इलाज के बाद तीन लाख 26 हजार 299 स्वस्थ हुए हैं। वर्तमान में एक्टिव केसों की संख्या 21 हजार 132 है। अलवर जिले के शाहजहांपुर में वैक्सीनेशन के करीब 15 घंटे बाद 53 वर्षीय एक महिला की मौत हो गई।