अमेरिका ने वैक्सीन के कच्चे माल पर निर्यात प्रतिबंध का किया बचाव

अमेरिका ने वैक्सीन के कच्चे माल पर निर्यात प्रतिबंध का किया बचाव

कोरोना वैक्सीन के उत्पादन में काम आने वाले कच्चे माल के निर्यात पर प्रतिबंध का अमेरिका ने बचाव किया है। अमेरिकी विदेश विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि देश के लोगों की जरूरतें पूरी करना बाइडन प्रशासन की पहली जिम्मेदारी है।

वाशिंगटन, प्रेट्र। कोरोना वैक्सीन के उत्पादन में काम आने वाले कच्चे माल के निर्यात पर प्रतिबंध का अमेरिका ने बचाव किया है। अमेरिकी विदेश विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि देश के लोगों की जरूरतें पूरी करना बाइडन प्रशासन की पहली जिम्मेदारी है।

यह पूछे जाने पर कि बाइडन प्रशासन वैक्सीन के निर्माण में काम आने वाले कच्चे माल से कब निर्यात प्रतिबंध हटाएगा, विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता अमेरिका के लोगों का टीकाकरण है। यह हमारा महत्वाकांक्षी अभियान है और इसमें हम अब तक सफल भी रहे हैं। प्राइस ने कहा, यह अभियान अभी चल ही रहा है। ऐसा हम कुछ कारणों से कर रहे हैं।

पहला ये कि अमेरिकी जनता के प्रति हमारी विशेष जिम्मेदारी है। दूसरा कारण ये है कि अमेरिकी जनता और यह देश दुनिया के किसी अन्य देश की तुलना में कोरोना से ज्यादा प्रभावित रहा है। यहां 5,50,000 से ज्यादा मौतें हुई हैं और करोड़ों लोग संक्रमित हुए हैं। अमेरिकी जनता का टीकाकरण सिर्फ अमेरिका के हित में नहीं है, बल्कि यह बाकी दुनिया के लिए भी फायदेमंद है। उन्होंने कहा, विदेश मंत्री (एंटनी ब्लिंकन) कई बार कह चुके हैं कि यदि कहीं भी वायरस फैलता है, तो हर जगह इसके फैलने का खतरा रहता है। इसलिए जब तक अमेरिका में वायरस को नियंत्रित नहीं कर लिया जाता, इसके देश से बाहर फैलने का खतरा बना हुआ है। यह म्यूटेट कर सकता है और सरहद के पार भी जा सकता है। अपनी पहली जिम्मेदारी को पूरा करने के लिए हमसे जो कुछ बन पड़ेगा, हम करेंगे।