केंद्रीय गृह सचिव और स्वास्थ्य सचिव ने यूपी और छत्तीसगढ़ के कोरोना के हालात को लेकर की समीक्षा बैठक

 

केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला और स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण की फाइल फोटो

केंद्र सराकर के इन दो शीर्ष अधिकारियों ने उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ के शीर्ष अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक की। कोरोना के हालात को लेकर हुई इस बैठक में राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों ने कोरोना के नियंत्रण और प्रबंधन के लिए उठाए गए सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों की चर्चा की।

नई दिल्ली, एएनआइ। देश में बढ़ते कोरोना के नए मामलों के बीच केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला और स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ के शीर्ष अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक की। कोरोना के हालात को लेकर हुई इस बैठक में राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों ने कोरोना के नियंत्रण और प्रबंधन के लिए उठाए गए सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों की चर्चा की।

केंद्र सरकार के अनुसार महाराष्ट्र के साथ छत्तीसगढ़ और उत्तर प्रदेश ही ऐसे तीन राज्य हैं जिनमें एक लाख से अधिक कोरोना के सक्रिय मामले हैं। छत्तीसगढ़ और उत्तर प्रदेश में रोजाना आ रहे कोरोना के नए मामलों की संख्या  बहुत अधिक है। यहां कोरोना के चलते रोजाना हो रहीं मौतें भी सर्वाधिक हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि उत्तर प्रदेश में दैनिक नए मामलों में 19.25 फीसद की वृद्धि दर दर्ज की गई है। उत्तर प्रदेश के 46 जिलों ने पिछले 30 दिनों में अपने उच्चतम कोरोना के मामलों को पार कर लिया है। जिनमें लखनऊ, कानपुर, वाराणसी और प्रयागराज कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित जिले हैं।

उत्तर प्रदेश में घातक हो रही कोरोना महामारी

बता दें कि उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों के अंदर 27426 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 103 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। राजधानी लखनऊ में 6598 नए मामले दर्ज किए गए हैं और 35 लोगों की कोरोना के चलते मौत हुई है। वाराणसी में 2334 नए मामले, प्रयागराज में 1758 नए मामले, कानपुर में 1403 नए कोरोना कोरोना के मामले सामने आए हैं।