अमेरिका समर्थित अफगान शांति बैठक स्थगित, तुर्की का ऐलान

 

अमेरिका समर्थित अफगान शांति बैठक स्थगित, तुर्की का ऐलान

तुर्की ने ऐलान किया कि इस्तांबुल में निर्धारित अफगानिस्तान मामले पर बैठक को स्थगित कर दिया गया है। अब यह रमजान खत्म होने के बाद होगी। इस अमेरिका समर्थित अफगान शांति बैठक में तालिबान के साथ समझौते पर मुहर लगने वाली थी।

काबुल, एपी।  तुर्की के इस्तांबुल शहर में अफगानिस्तान मसले पर होने वाली अहम बैठक स्थगित कर दी गई। तुर्की ने बुधवार को यह एलान किया। यह बैठक शनिवार से शुरू होने वाली थी, लेकिन रमजान के पवित्र माह के खत्म होने तक टाल दी गई। अमेरिका समर्थित अफगान शांति बैठक में तालिबान के साथ समझौते पर अंतिम मुहर लगने वाली थी। 

तुर्की के विदेश मंत्री ने बताया कि अफगानिस्तान मसले पर होने वाली वार्ता के लिए 24 अप्रैल की तारीख निश्चित की गई थी। विदेश मत्रर मेवलुत कावुसोगलु ने बताया, 'कतर, अमेरिका और संयुक्त राष्ट्र के साथ बात कर हमने इस वार्ता को फिलहाल स्थगित करने का फैसला लिया है।' तुर्की ने पहले बताया था कि संयुक्त राष्ट्र व कतर के साथ मिलकर आयोजित की जाने वाली यह वार्ता 24 अप्रैल से 4 मई तक चलेगी। 

अफगान सरकार के प्रवक्ता ने मामले पर किसी तरह के बयान देने से इनकार कर दिया। वहीं तालिबान प्रवक्ता मोहम्मद नईम  ने रॉयटर्स न्यूज एजेंसी को टेक्सट मैसेज में बताया कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है और वे इस बैठक के लिए रमजान के बाद की किसी तारीख के बारे में भी नहीं बता सकते।

तालिबान ने पहले ही यह संकेत दे दिया था कि वह बैठक में शामिल होने के लिए तैयार नहीं है। अमेरिका यह कह चुका है कि वह अफगानिस्तान में बचे अपने सैनिकों की एक मई से स्वदेश वापसी शुरू कर देगा। 11 सितंबर तक सभी सैनिकों की वापसी हो जाएगी। इधर, तालिबान ने अमेरिका पर गत वर्ष हुए समझौते का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है। यह समझौता गत वर्ष फरवरी में इस आतंकी संगठन और तत्कालीन ट्रंप प्रशासन के बीच हुआ था। समझौते में इस वर्ष एक मई तक अफगानिस्तान से सभी अमेरिकी सैनिकों की वापसी की बात थी। 

सुरक्षा बलों के काफिले पर आत्मघाती हमला

शांति वार्ता स्थगित होने के कुछ घंटे पहले अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में एक आत्मघाती हमले को अंजाम दिया गया। इसमें चार लोग घायल हो गए। गृह मंत्रालय ने बताया कि सुरक्षा बलों के काफिले को निशाना बनाया गया। हमले की किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली है।