दिल्ली में लगा लॉकडाउन तो क्या करते रुककर

 


कानपुर : दिल्ली में लगे लॉकडाउन का असर मंगलवार सुबह से ही सेंट्रल स्टेशन पर दिखने लगा था। चूंकि दिल्ली से हावड़ा के बीच सौ से अधिक ट्रेनों का संचालन हो रहा है। ऐसे में ट्रेनों से वापस लौटने वाले प्रवासियों की भीड़ सामान्य थी, जबकि मुंबई से आने वाले प्रवासियों की संख्या फिर बढ़ गई है। देश में लॉकडाउन की आशंका के डर से प्रवासी घर वापसी कर रहे हैं।

दिल्ली में लॉकडाउन लगने के बाद प्रवासियों की घर वापसी का सिलसिला शुरू हो गया है। मंगलवार को सेंट्रल स्टेशन पर सुबह छह बजे ब्रह्मापुत्र एक्सप्रेस पहुंची। बिहार जाने वाली इस ट्रेन में प्रवासियों की संख्या ठीक ठाक थी। इसके बाद मरुवाडीह एक्सप्रेस, इस्लामपुर जाने वाली मगध एक्सप्रेस, नार्थ ईस्ट समेत अन्य ट्रेनों के आने का सिलसिला शुरू हुआ। इन ट्रेनों में प्रवासियों की भीड़ सामान्य थी। इसी बीच दोपहर पौने दो बजे एलटीटी गोरखपुर एक्सप्रेस पहुंची तो इसमें भीड़ काफी थी। अब मुंबई से आने वाले लॉकडाउन की आशंका से परेशान हैं। उनका मानना है कि लॉकडाउन लग गया तो ट्रेनें भी बंद हो जाएंगी।

इन ट्रेनों से आए प्रवासी

- मगध एक्सप्रेस तड़के साढ़े तीन बजे

-मरुवाडीह एक्सप्रेस तड़के चार बजे

-छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस से गोरखपुर सुबह साढ़े चार बजे

-ब्रह्मापुत्र एक्सप्रेस सुबह छह बजे

-बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस से सुबह सवा छह बजे

-नार्थ ईस्ट एक्सप्रेस से दोपहर डेढ़ बजे

-कालका हावड़ा एक्सप्रेस दोपहर पौने दो बजे

-एलटीटी गोरखपुर अपराह्न पौने दो बजे

-महाबोधि एक्सप्रेस शाम छह बजे पुलिस की छापेमारी से फरार हुए आरोपित दुकानदार, कानपुर : बर्रा में कुछ समय पहले पुलिस ने छापेमारी करके नौ मोबाइल लुटेरों को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। पकड़े गए आरोपितों ने बताया कि लूट के मोबाइलों का आइएमईआइ नंबर बदलकर वह उसे औनै पौने दामों में बेच देते थे। अब पुलिस को लॉक खोलने और आइएमईआइ नंबर बदलने वालों की तलाश है। पुलिस ने तीन दुकानदारों की तलाश में छापेमारी की तो आरोपित दुकानदार फरार हो गए। पुलिस फरार दुकानदारों की तलाश में जुटी है। शहर में ताबड़तोड़ मोबाइल लूट की घटनाओं को अंजाम देने वाले फतेहपुर के लुटेरे गैंग के नौ सदस्यों को पुलिस ने दबोचा था। जिसमें देवरी बुजुर्ग जाफरगंज फतेहपुर निवासी नितिन कुमार, भगौना बिदकी फतेहपुर निवासी उत्कर्ष पटेल उर्फ भानू, सरगना जद्दूपुर बसंत खेड़ा जाफरगंज फतेहपुर निवासी मनीष कुमार उमराव उर्फ गड्डू, भलिगवां बकेवर निवासी अभिषेक उमराव, जाफगंज निवासी प्राशू उर्फ बबलू, कुंदेरामपुर चांदपुर फतेहपुर निवासी सनी पटेल, असधना सजेती निवासी आदित्य पटेल, द्वारिकापुर जहानाबाद निवासी विशाल वर्मा, पुखरायां भोगनीपुर कानपुर देहात निवासी अर्पित सचान शामिल हैं। पकड़े गए लुटेरों ने पूछताछ में तीन दुकानदारों के नाम बताए थे। जिस पर बर्रा पुलिस ने आरोपितों की धर पकड़ के लिए सागर मार्केट में दबिश दी, लेकिन दुकानदार उससे पहले भी फरार हो गए। थाना प्रभारी हरमीत सिंह ने बताया कि आरोपितों की सर्विलांस टीम की मदद से तलाश की जा रही है। जुर्माना भर देंगे, पर जान तो बच जाएगी, कानपुर : कोविड का खौफ इस कदर है कि मंगलवार को गोरखपुर से मुंबई जा रहा एक परिवार उल्टे पांव वापस लौट गया। सेंट्रल स्टेशन पर इस परिवार ने बिना आरक्षण कराए ट्रेन बदली और गोरखपुर रवाना हो गया।

गोरखपुर से बांद्रा जा रही ट्रेन दोपहर 12 बजे प्लेटफार्म नंबर सात पर पहुंची। एक कोच में दो महिलाओं और बच्चों के साथ एक परिवार भी ट्रेन से बांद्रा जा रहा था। इसी बीच किसी ने कहा मुंबई में कोरोना है। अब तो ट्रेन में भी लोग संक्रमित होकर मर रहे हैं। इतना सुनना था कि परिवार परेशान हो गया। पूरा परिवार सामान लेकर नीचे उतर आया और दुकानदारों से पूछा। दुकानदारों ने भी मुंबई की स्थिति बताई तो परिवार ने एक पल भी सोचने में देरी नहीं की और प्लेटफार्म पांच पर खड़ी ओखा गोरखपुर ट्रेन में सवार हो गए। परिवार के मुखिया से जब लोगों ने पूछा, बिना टिकट चढ़ गए तो वह बोले जुर्माना भर देंगे, पर जान तो बच जाएगी।