हरियाणा में दूसरी लहर में खतरनाक हुआ कोरोना, दस दिन में तीन गुणा बढ़ गया संक्रमण

 


हरियाणा में दस दिन में तेजी से बढ़े कोरोना मरीज। सांकेतिक फोटो

हरियाणा में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ने लगा है। राज्य में दस दिन में संक्रमण की रफ्तार तीन गुना तक बढ़ गई है। हालांकि इस दौरान टेस्ट भी बढ़े हैं। दस दिन में 94 लोगों की मौत भी हुई है।

 चंडीगढ़। हरियाणा में कोरोना की दूसरी लहर ज्यादा खतरनाक साबित हो रही है। पिछले दस दिन में 94 मरीजों की मौत हो चुकी है, जबकि इस दौरान 20 हजार 810 नए मरीज मिल चुके हैं। नवंबर मेें जब कोरोना पीक पर था, तब भी दस दिनों के अंतराल में इतने नए मरीज नहीं मिले थे। आलम यह है कि पांच दिन से रोजाना दो हजार से ज्यादा संक्रमित मिल रहे हैं।

कोरोना को मात दे चुके लोग भी दूसरी लहर की चपेट में आ रहे हैं, जिससे स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ रही है।वहीं, तेजी से बढ़ रही कोरोना की दूसरी लहर को रोकने और संक्रमण की चेन को तोडऩे के लिए सरकार ने सख्ती बढ़ाने के साथ ही स्वास्थ्य सेवाओं को भी मजबूत करने की कवायद शुरू कर दी है। वैक्सीनेशन के साथ ही अस्पतालों में बेडों की संख्या बढ़ाई जा रही है तो सैंपलिंग व ट्रैकिंग सिस्टम को भी मजबूत किया जा रहा है।

हरियाणा में सैंपलिंग को चार गुणा बढ़ा दिया गया है। अस्पतालों में बेडों की पुख्ता व्यवस्था की जा रही है, ताकि आपातकालीन स्थिति में किसी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े। अस्पतालों में चिकित्सीय संसाधनों को मजबूत किया जा रहा है। इनमें मुख्य फोकस बेड और आक्सीजन सिलेंडरों पर है ताकि कहीं भी संसाधनों की कमी से इलाज प्रभावित न हो।

अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़कर 13 हजार 680 के पार पहुंच गई है। हरियाणा में कोरोना को हराने के लिए वैक्सीनेशन पर भी पूरा जोर दिया जा रहा है। प्रदेश सरकार ने रविवार से बुधवार तक करीब सात लाख लोगों को टीके लगाने का लक्ष्य रखा है। इसको लेकर सभी चिकित्सकों से लेकर पैरामेडिकल स्टाफ की छुट्टियां रद कर दी गई हैं। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने अस्पतालों में बेडों की पुख्ता व्यवस्था करने के साथ लिए कोरोना गाइड लाइन की सख्ती से पालन कराने की हिदायत दी है।