अस्पतालों में डॉक्टरों और अन्य स्टाफ के कम होने के पीछे ये है बड़ा कारण, आप भी जानें


अस्पताल में मरीजों के साथ स्वास्थ्य कर्मचारी भी कोरोना की चपेट में आने लगे हैं।

अस्पताल में पहले 24 घंटे कोरोना जांच की जाती थी। हर रोज एक हजार से ज्यादा लोग यहां जांच करवाने आते थे लेकिन जांच बंद होने की वजह से लोगों को अब दूर- दूर जांच करवाने जाना पड़ रहा है।

रोहिणी के बाबा साहेब अंबेडकर अस्पताल में मरीजों के साथ स्वास्थ्य कर्मचारी भी कोरोना की चपेट में आने लगे हैं। मंगलवार तक अस्पताल के चिकित्सा निदेशक (एमडी) समेत 100 से ज्यादा स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित हो चुके हैं। गत दिनों यहां तैनात 58 कर्मचारियों की कोरोना जांच करवाई थी। मंगलवार को जांच रिपोर्ट आई तो 58 में से 47 कर्मचारी संक्रमित पाए गए।सूत्रों के अनुसार, अस्पताल के एमडी समेत 100 से ज्यादा स्वास्थ्य कर्मचारी संक्रमित हो चुके हैं। साथ ही अस्पताल में कोरोना जांच भी बंद कर दी गई हैं। इस वजह से लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है। गौरतलब है कि अस्पताल में पहले 24 घंटे कोरोना जांच की जाती थी। हर रोज एक हजार से ज्यादा लोग यहां जांच करवाने आते थे, लेकिन जांच बंद होने की वजह से लोगों को अब दूर- दूर जांच करवाने जाना पड़ रहा है। वहां भी यह कहकर वापस भेज दिया जा रहा है कि कोरोना जांच किट खत्म हो गई है, कल आना। इस मामले में अस्पताल के संबंधित अधिकारी को कई बार फोन किया गया, लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया।

पिछले करीब दस दिन से लाकडाउन के बाद भी राजधानी में संक्रमण दर कम नहीं हो रही है। एक दिन पहले यह 30.21 फीसद थी, जो सोमवार को बढ़कर 35.02 फीसद हो गई। पिछले 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना संक्रमण के 20,201 नए मामले सामने आए। हालांकि, इस दौरान 22,055 मरीज स्वस्थ भी हुए। वहीं, 380 लोगों ने दम तोड़ दिया।

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 57,690 सैंपल की जांच की गई, जिनमें से 38,786 की जांच आरटी-पीसीआर से और 18,904 सैंपल का एंटीजन टेस्ट किया गया। इनमें से 35.02 फीसद सैंपल पाजिटिव पाए गए। इससे पहले 22 अप्रैल को संक्रमण दर 36.24 फीसद हो गई थी, अब-तक की सर्वाधिक है। राजधानी में मौजूदा समय में संक्रमण के 92,358 सक्रिय मामले हैं। इनमें से 52,733 लोग घर में रहकर इलाज करा रहे हैं, जबकि अस्पतालों में 18,831 मरीज भर्ती हैं। अन्य मरीज कोविड केयर सेंटर और कोविड हेल्थ सेंटर में भर्ती हैं। राजधानी में अब तक 10,47,916 लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं, इनमें से 9,40,730 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। जबकि, कुल 14,628 लोगों की मौत हो चुकी है जो कि 1.40 फीसद है। अब तक कुल 1,68,39,549 सैंपल की जांच हो चुकी है।

एक हफ्ते में करीब दोगुने हुए कंटेनमेंट जोन

पिछले एक हफ्ते में राजधानी में कंटेनमेंट जोन करीब दोगुने हो गए हैं। 19 अप्रैल को जहां इनकी संख्या 15,039 थी। वहीं, सोमवार को बढ़कर 29,104 तक पहुंच गई। पिछले 24 घंटे में ही 1,738 नए कंटेनमेंट जोन बने।

अब तक 29.92 लाख लोगों ने लगवाया टीका

राजधानी में अब तक कुल 29,92,824 लोगों का टीकाकरण हो चुका है। इनमें से 24,14,924 लोगों को पहली डोज लगी है, जबकि 5,77,900 को दोनों डोज लग चुकी हैं। पिछले 24 घंटे में 43,637 लोगों ने टीका लगवाया है। इनमें से 31,888 को पहली डोज और 11,749 को दूसरी डोज लगी।