नेपाली कांग्रेस अपने नेतृत्व में सरकार गठन की करेगी पहल, सत्ता के लिए सीपीएन-माओवादी सेंटर का लेगी सहयोग

 Facebook

नेपाल की मुख्य विपक्षी पार्टी नेपाली कांग्रेस ने कहा है कि वह वैकल्पिक सरकार के गठन की पहल करेगी।

नेपाल की मुख्य विपक्षी पार्टी नेपाली कांग्रेस ने कहा है कि वह केपी शर्मा ओली को हटाकर अपने नेतृत्व में वैकल्पिक सरकार के गठन की पहल करेगी। इसके लिए वह प्रचंड के नेतृत्व वाली सीपीएन-माओवादी सेंटर और दूसरी पार्टियों का समर्थन लेगी।

काठमांडू, पीटीआइ। नेपाल की मुख्य विपक्षी पार्टी नेपाली कांग्रेस ने प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली को हटाकर अपने नेतृत्व में वैकल्पिक सरकार के गठन की पहल की है। इसके लिए वह प्रचंड के नेतृत्व वाली सीपीएन-माओवादी सेंटर और दूसरी पार्टियों का समर्थन लेगी। नेपाली कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रकाश मान सिंह के अनुसार पार्टी की केंद्रीय कार्य समिति ने शनिवार को अपने नेतृत्व में एक नई सरकार बनाने की पहल करने का फैसला किया है। पहले पार्टी प्रधानमंत्री ओली को पद छोड़ने और नई सरकार के गठन की अनुमति देने को कहेगी।

प्रकाश मान सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री ओली अगर इस्तीफा नहीं देते हैं तो पार्टी उनके खिलाफ संसद के निचले सदन में अविश्वास प्रस्ताव लाएगी और लोकतंत्र को बचाने के लिए अपने नेतृत्व में एक नई सरकार बनाने की पहल करेगी। पार्टी नेता ने कहा, 'मुख्य विपक्षी दल और वर्ष 2015 में देश के संविधान को बनाने में मुख्य भूमिका निभाने के चलते यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम लोकतंत्र की रक्षा करें।'

सूत्रों के मुताबिक अगर नेपाली कांग्रेस सरकार बनाने की पहल करती है तो सत्तारूढ़ सीपीएन- यूएमएल, जनता समाजवादी पार्टी और सीपीएन-माओवादी सेंटर का एक धड़ा उसे समर्थन दे सकता है। अगर पूर्व प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड के नेतृत्व वाली सीपीएन-माओवादी सेंटर निचले सदन में सरकार से समर्थन वापस ले लेती है तो ओली के नेतृत्व वाली सरकार का गिरना तय है। शनिवार को प्रचंड ने कहा कि नेपाली कांग्रेस की सरकार गठन की पहल ने देश की राजनीति में नया मोड़ ला दिया है।

बता दें कि ओली द्वारा पिछले वर्ष दिसंबर में संसद के निचले सदन को भंग करने से देश में राजनीतिक संकट पैदा हो गया था। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने इसी वर्ष फरवरी में अपने ऐतिहासिक फैसले में निचले सदन को बहाल कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने पिछले वर्ष सीपीएन-माओवादी सेंटर और सीपीएन-यूएमएल का विलय भी निरस्त कर दिया था। मई 2018 में दोनों पार्टियों का विलय होने के बाद नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी बनी थी।