बिहार में कोरोना संकट पर आज CM नीतीश कुमार की हाई लेवल बैठक, कुछ बड़े फैसलों की उम्‍मीद

 

बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार। फाइल तस्‍वीर।

 बिहार में राज्यपाल की अध्यक्षता में कोरोनावायरस संक्रमण के संकट पर सर्वदलीय बैठक से एक दिन पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सभी संबंधित विभागों के शीर्ष अधिकारियों की बैठक बुलाई है। इसमें स्थिति की समीक्षा की जाएगी।

पटना, ऑनलाइन डेस्‍क। बिहार में कोरोनावायरस संक्रमण की दूसरी लहर में हालात लगातार खराब होते जा रहे हैं। चाहे रोज मिल रहे नए मामले हों या कुल सक्रिय मरीज या फिर मौत के आंकड़े, सभी हर दिन नया रिकार्ड बनाते दिख रहे हैा ऐसे में अगर हम अभी भी नहीं चेते तो हालात भयावह हो जाएंगे। इसे देखते हुए शुक्रवार को मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार हाई-लेवल बैठक में स्थिति की समीक्षा करने जा रहे हैं। इस बैठक में अहम फैसले लिए जा सकते हैं। माना जा रहा है कि सरकार बैठक में लॉकडाउन या नाइट कर्फ्यू को लेकर भी काेई निर्णय पर पहुंच सकती है। इन फैसलों को सरकार शनिवार को सर्वदलीय बैठक में रखकर सभी राजनीतिक दलों की राय जानेगी, फिर विमर्श के बाद फैसले पर अंतिम मुहर लगाएगी।

विदित हो कि बिहार में गुरुवार को कोरोनावायरस संक्रमण के पिछले सारे रिकार्ड टूट गए। सर्वाधिक 6133 नए मामले मिले तो सर्वाधिक 27 मौतें भी हुईं। इसके साथ बिहार में अब संक्रमण के कुल सक्रिय मामले बढ़कर 29078 हो गए हैं। चिंता की बात संक्रमण दर का 6 के ऊपर जाने के साथ रिकवरी दर का घट जाना है।

कोरोनावायरस संक्रमण के हालात की होगी समीक्षा

बिहार में कोरोनावायरस के संकट से निबटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देशानुसार शनिवार को बुलाई गई राज्यपाल फागू चौहान की अध्यक्षता में सर्वदलीय बैठक के एक दिन पहले शुक्रवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सभी संबंधित विभागों के शीर्ष अधिकारियों की बैठक बुलाई है। इस दौरान कोरोना संक्रमण के हालात, अस्पतालों में बेडों की संख्या, ऑक्सीजन की आपूर्ति एवं इलाज की व्यवस्था की आदि की समीक्षा की जाएगी। वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के माध्‍यम से सायं 4:30 बजे होने वाली इस बैठक में स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पाडेय सहित सभी संबंधित विभागों के मंत्री व अधिकारी उपस्थित रहेंगे।

बैठक में फैसले लिए जा सकते हैं बड़े व कड़े फैसले

माना जा रहा है कि बैठक में कोरोनावायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए बड़े फैसले लिए जा सकते हैं। गुरुवार को लॉकडाउन लागू करने को लेकर मीडिया के सवाल के जवाब में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि सरकार जरूरत पड़ने पर कोई भी बड़ा फैसला लेगी। मुख्‍यमंत्री के उस बयान और कोरोनासंक्रमण के वर्तमान हालात को देखते हुए ऐसे बड़े व कड़े फैसले की संभावना बनी हुई है। ये फैसले लॉकडाउन व नाइट कर्फ्यू के साथ-साथ पंचायत चुनाव को टालने या सुरक्षित तरीके से कराने तक हो सकते हैं।

सर्वदलीय बैठक में विचार के बाद होगा अंतिम निर्णय

शनिवार को होने वाली सर्वदलीय बेठक के पहले सरकार अपनी राय तय कर लेगी। आज की बेठक में जो भी तय होगा, उसपर राज्यपाल फागू चौहान की अध्यक्षता में शनिवार को बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में विचार किया जाएगा। वैसे इस मामले में सत्‍ता पक्ष व विपक्ष के नेताओं की राय भी समाने आने लगी है। कांग्रेस ने कहा है कि पिछली बार जितने मामले मिलने पर लॉकडाउन लगाया गया था, इस बार उससे अधिक मामले मिल रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी नेता प्रमरंजन पटेल ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में सबों के विचार जानने के बाद सरकार ठोस फैसला ले सकती है। जनता दल यूनाइटेड की तरफ से नीरज कुमार ने भी कहा है कि जनहित में बेहतर क्‍या हो सकता है, इसकी समीक्षा के बाद सरकार फैसला लेगी।