झारखंड में सबको कोरोना टीका मुफ्त, CM हेमंत का बड़ा एलान

 

FREE COVID-19 Vaccine to All in Jharkhand: झारखंड में 1 मई से 18 वर्ष से ऊपर सबको मुफ्त टीका लगेगा।

झारखंड में 1 मई से 18 वर्ष से ऊपर आयु वर्ग के सभी लोगों को मुफ्त टीका लगेगा। हेमंत सरकार इसकी तैयारी कर रही है। सीएमओ तथा स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों ने इसके संकेत दिए हैं। इस संबंध में शीघ्र घोषणा की जाएगी।

रांची, राज्य में 18 वर्ष तथा इसे ऊपर आयु वर्ग के सभी लोगों को मुफ्त टीका लगेगा। मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने यह बड़ा एलान किया है। राज्य सरकार ने इसकी तैयारी युद्धस्‍तर पर शुरू कर दी है। सीएमओ तथा स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों ने इसके लिए प्रयास शुरू कर दिए हैं। इस संबंध में शीघ्र घोषणा की जाएगी। एक मई से 18 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों का टीकाकरण होना है। इसमें 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए टीका केंद्र सरकार मुफ्त उपलब्ध कराती रहेगी। वहीं, 45 वर्ष से कम उम्र के लोगों के लिए राज्य सरकार को कंपनी से सीधे टीका क्रय करना होगा। इसका खर्च राज्य सरकार को वहन करना होगा। ऐसे में राज्य सरकार को इस आयु वर्ग के लाेगों के दोनों डोज के लिए (प्रति डोज 400 रुपये) राज्य सरकार को 1,400 करोड़ रुपये खर्च करने होंगे।

कोरोना के खिलाफ जंग में टीकाकरण सबसे बड़ा अस्त्र साबित हो रहा है। वर्तमान में कोरोना संक्रमण से हो रही मृत्यु के आंकड़े बता रहे हैं कि जिन्हें दोनों डोज का टीका लग चुका है, उनमें कोरोना का संक्रमण कम हो रहा है। यदि संक्रमण हो भी गया तो उनकी जान पर कोई खतरा नहीं आ रहा है। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) भी शीघ्र अधिसंख्य आबादी के टीकाकरण पर जोर दे रही है।

विशेषज्ञों के अनुसार सरकार को दिखानी होगी तत्परता

चिकित्सा क्षेत्र के विशेषज्ञों का भी मानना है कि टीके को लेकर झारखंड सरकार को भी तत्परता दिखानी होगी, क्योंकि टीके का उत्पादन कम है और इसे खरीदने के लिए राज्यों में होड़ भी हो सकती है। यदि झारखंड इसमें पिछड़ेगा तो नुकसान हो सकता है। फिर स्थिति रेमडेसिविर या अन्य मेडिकल वस्तुएं जैसी हो सकती हैं। राज्य स्तर पर टीका क्रय करने से लेकर कंपनी को आर्डर देने तक की प्रक्रिया शीघ्र पूरी होनी चाहिए। राज्य सरकार को टीका क्रय करने की तैयारी पहले से ही करनी होगी, क्योंकि बिहार सहित कई राज्यों की सरकारों ने अपने खर्च से इस आबादी के टीकाकरण कराने की घोषणा कर दी है। इसकी तैयारी भी शुरू कर दी है।

मृत्यु दर अधिक, लेकिन लक्ष्य के विरुद्ध एक चौथाई से भी कम टीकाकरण

कोरोना के नए स्ट्रेन (यूके स्ट्रेन व डब्ल स्ट्रेन) से झारखंड में 45 वर्ष से अधिक आयु के मरीजों की मृत्यु दर अधिक है। टीकाकरण से इस आयु वर्ग के लोगों की जान बचाई जा सकती है। लेकिन राज्य में स्थिति यह है कि अभी तक राज्य में इस आयु वर्ग का लक्ष्य के विरुद्ध 24 फीसद ही पहली डोज का टीकाकरण ही हो सका है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्य सरकार को इस ओर ध्यान आकृष्ट कराते हुए इस आबादी के टीकाकरण का लक्ष्य शीघ्र पूरा करने को कहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि झारखंड में राष्ट्रीय औसत से कम इस आयु वर्ग को पहली डोज लगी है। इस आलोक में राज्य के अभियान निदेशक रविशंकर शुक्ला ने सभी सिविल सर्जनों को इस आयु वर्ग के लोगों के टीकाकरण में तेजी लाने का कहा है।

फैक्ट फाइल

  • - 25 लाख 690 लोगों को राज्य में 21 अप्रैल तक टीका की पहली डोज लग चुकी है। इनमें 1,95,646 हेल्थ केयर वर्कर्स, 2,64,882 फ्रंटलाइन वर्कर्स तथा 20,40,162 सामान्य नागरिक शामिल हैं।
  • - 3,84,250 लोगों को टीका की दूसरी डोज भी लग चुकी है।
  • - 91 फीसद हेल्थ केयर वर्कर्स तथा 81 फीसद फ्रंटलाइन वर्कर्स को पहली डोज का टीका लग चुका है।

किस जिले में लक्ष्य के विरुद्ध कितना टीकाकरण

जिला - लक्ष्य - पहली डोज का टीकाकरण (प्रतिशत में)

  1. बोकारो 5,24,313 1,16,893 22 
  2. चतरा 2,65,136 65,920 25
  3. देवघर 3,79,334 57,331 15 
  4. धनबाद 6,82,486 1,84,439 27
  5. दुमका 3,35,954 86,626 26 
  6. पूर्वी सिंहभूम 5,83,190 1,87,725 32
  7. गढ़वा 3,36,296 61,822 18 
  8. गिरिडीह 6,21,720 1,35,530 22
  9. गोड्डा 3,33,948 61,840 19 
  10. गुमला 260,643 75,552 29
  11. हजारीबाग 4,40,966 1,15,629 26 
  12. जामताड़ा 2,01,109 52,182 26
  13. खूंटी 1,35,223 47,008 35 
  14. कोडरमा 1,82,097 54,519 30
  15. लातेहार 1,84,822 42,028 23 
  16. लोहरदगा 1,17,402 39,523 34
  17. पाकुड़ 2,28,917 45,604 20 
  18. पलामू 4,93,179 1,47,701 30
  19. रामगढ़ 2,41,380 58,164 24 
  20. रांची 7,40,900 1,76,612 24
  21. साहिबगंज 2,92,512 32,113 11 
  22. सरायकेला खरसावां 2,70,773 68,045 25
  23. सिमडेगा 1,52,433 38,313 25 
  24. पूर्वी सिंहभूम 3,81,944 89,043 23