क्‍या झारखंड में लगेगा लॉकडाउन? देखें CM हेमंत सोरेन ने क्‍या कहा...

 

Jharkhand Lockdown, Lockdown in Jharkhand, Jharkhand Lockdown 2021: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कड़ाई के संकेत दिए। परीक्षाओं पर भी फैसला।

 कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों पर राज्य सरकार कड़े फैसले ले सकती है। लॉकडाउन सरीखी बंदिशों को कड़ा करने समेत परीक्षाओं पर निर्णय शामिल है। शुक्रवार को उच्चस्तरीय बैठक में स्थिति की समीक्षा आकलन के बाद इस पर ठोस फैसला होगा।

रांची, राज्य ब्यूरो। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार कड़े फैसले ले सकती है। इसमें पूर्व में जारी बंदिशों को और कड़ा करने समेत स्कूलों और परीक्षाओं सको लेकर निर्णय शामिल है। शुक्रवार को उच्चस्तरीय बैठक में स्थिति की समीक्षा और आकलन के बाद इस पर ठोस फैसला होगा। गुरुवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्य में कोरोना संक्रमण की स्थिति को लेकर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए उच्चस्तरीय बैठक की। इस बैठक में स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरूण एक्का, स्वास्थ्य सचिव केके सोन, आपदा प्रबंधन सचिव अमिताभ कौशल, नगर विकास सचिव विनय चौबे सहित देवघर को छोड़कर राज्य के सभी जिलों के उपायुक्त और सिविल सर्जन उपस्थित रहे।

सीएम हेमंत बोले, हालात का आकलन कर आज लेंगे कड़े और बड़े फैसले

बैठक के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि कोरोना के बढ़ते मामलों पर सरकार की पैनी नजर है। बैठक में कई कई मुद्दों पर बात हुई है। 16 अप्रैल को सरकार स्थिति की पूरी तरह समीक्षा और आकलन कर बड़े फैसले लेगी। उन्होंने कहा कि स्कूलों और परीक्षाओं को लेकर भी ठोस फैसला लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार दो कोबास मशीन खरीदेगी। कोबास मशीन की एक यूनिट से प्रत्येक दिन 1400 आरटीपीसीआर सैंपल की जांच की जाएगी। एक मशीन रांची और दूसरा दुमका में स्थापित किया जाएगा। राज्य में कोरोना जांच के लिए सैंपल का संग्रह तेजी से हो रहा है।

छह आटीपीसीआर लैब बनाने का फैसला, गाइडलाइन का सख्ती से कराएं पालन

राज्य सरकार ने छह आटीपीसीआर लैब बनाने का भी निर्णय किया है। ये लैब रांची, जमशेदपुर, बोकारो, चाईबासा, गुमला और साहिबगंज में बनेगा।  साहिबगंज में लोकसभा सदस्य विजय हांसदा से फंड बन रहे लेबोरेटरी को और सुविधाओं से लैस करने के लिए सरकार फंड मुहैया कराएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सार्वजनिक आयोजनों तथा गतिविधियों में सरकार द्वारा जारी निर्देश का शत प्रतिशत पालन सुनिश्चित करें। भीड़भाड़ वाले जगहों पर लोग विशेष सतर्कता बरतें। मुख्यमंत्री ने सभी उपायुक्तों को आने वाली चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए पूरी तरह अलर्ट रहने का निर्देश दिया।

रांची के रिम्‍स आइसीयू में 110 नए बेड

इसके अलावा रांची स्थित रिम्स में 110 नया आईसीयू सेटअप तैयार करने का निर्देश दिया गया है। रिम्स में 750 कोविड-19 डेडिकेटेड एयरमार्क बेड की भी व्यवस्था की जाएगी। रिम्स में बढ़ते केस के कारण दबाव को कम करने के लिए रामगढ़ स्थित सीसीएल अस्पताल के 150 बेड को सरकार कोविड डेडिकेटेड बेड के तौर पर उपयोग करेगी। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि सरकार मुंबई और पुणे से कई विशेष ट्रेन यूपी, बिहार, झारखंड, बंगाल और ओड़िशा के लिए चलाई जा रही है। इससे भी संक्रमण बढ़ा है। सरकार तमाम परिस्थितियों का आकलन कर निर्णय करेगी। संक्रमण के संपूर्ण दायरे की समीक्षा की जाएगी।

50 प्रतिशत बेड कराएं आरक्षित, बाहर से आए लोगों की रखें जानकारी

मुख्यमंत्री ने सभी जिलों के उपायुक्तों को निर्देश दिया कि सभी सरकारी एवं निजी अस्पतालों में कम से कम 50 प्रतिशत बेड कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित रखें। सभी उपायुक्त जिलों के सभी निजी अस्पतालों के प्रबंधकों के साथ बैठक कर जल्द से जल्द कार्य योजना बनाकर कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज सुनिश्चित करें। सभी अस्पतालों में अतिरिक्त बेड तथा ऑक्सीजन युक्त बेड की व्यवस्था करने का भी निर्देश मुख्यमंत्री ने दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हाल के दिनों में कोविड-19 के मामलों में हुई वृद्धि तथा आने वाले दिनों में होने वाली वृद्धि को नियंत्रित करने के लिए जिला, प्रखंड तथा गांव स्तर पर इलाज के निमित्त व्यापक रणनीति बनाकर प्रभावी व्यवस्था करें।

संसाधनों का पूरा उपयोग करें

सीएम ने कहा कि क्लीनिकल मैनेजमेंट के तहत स्थापित संसाधनों का पूरा उपयोग सुनिश्चित करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए राज्य सरकार गंभीर है। कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। उपायुक्त ध्यान रखें कि नए केस किन क्षेत्रों में अधिक बढ़ रहे हैं। वहां कौन लोग दूसरे राज्यों से आए हैं, इसकी पूरी जानकारी रखें। संक्रमण के कारणों का विश्लेषण करें तथा पहले के अनुभवों के आधार पर रणनीति बनाकर काम करें। सभी उपायुक्त अपने-अपने जिलों में कोविड-19 की अधिक से अधिक टेस्टिंग कराने की व्यवस्था करें।

मुख्य सचिव ने ली अद्यतन जानकारी

बैठक में राज्य के मुख्य सचिव सुखदेव सिंह ने सभी जिलों के उपायुक्तों से कोरोना संक्रमण को लेकर अद्यतन जानकारी तथा तैयारियों के संबंध में विस्तृत जानकारी ली। मुख्य सचिव ने कहा कि सभी अस्पतालों में कोविड-19 मरीजों के लिए 50 प्रतिशत बेड आरक्षित करने के कार्य को जल्द से जल्द सुनिश्चित कर लिया जाए। अस्पतालों में अधिक से अधिक ऑक्सीजन युक्त बेड तैयार किए जाएं। कोरोना संक्रमित मरीजों की इलाज में किसी प्रकार की कोताही नहीं बरती जाए।