ट्विटर पर रिटायर्ड IAS अफसर से भिड़ गईं कंगना रनौत, पीएम मोदी को बताया पिता समान

 

कंगना रनौत की तस्वीर, फोटो साभार: Twitter

कंगना ने पीएम का समर्थन करते हुए उन्हें देश के लिए पिता समान तक बता दिया। वहीं एक रिटायर्ड IAS अफसर के साथ भी जुबानी जंग की। बीते दिन ट्विटर पर हैशटैग ,भारत_का_वीर_पुत्र_मोदी ट्रेंड करने लगा। इस हैशटैग का इस्तेमाल करते हुए ही कंगना ने भी एक ट्वीट किया।

 नई दिल्ली। कोरोना वायरस की दूसरी लहर काफी घातक साबित हो रही है। ऐसे में इस समय हालातों को देखते हुए सरकार और प्रधानमंत्री पर लोग निशाना साधने लगे हैं। लोग इलाज और सुविधाओं की कमी का जिम्मेदार पीएम मोदी और उनकी नीतियों को बता रहे हैं। लेकिन कई लोग उनके समर्थन में भी उतर आए हैं। इन्हीं लोगों में अभिनेत्री कंगना रनौत का नाम भी शामिल है। कंगना ने पीएम का समर्थन करते हुए उन्हें देश के लिए पिता समान तक बता दिया। वहीं एक रिटायर्ड IAS अफसर के साथ भी जुबानी जंग की।

बीते दिन ट्विटर पर हैशटैग #भारत_का_वीर_पुत्र_मोदी ट्रेंड करने लगा। इस हैशटैग का इस्तेमाल करते हुए ही कंगना ने भी एक ट्वीट किया। अपने ट्वीट में कंगना ने लिखा, 'जब आपके पास दुनिया का सबसे काबिल नेता हो, तो खुद प्रधानमंत्री बनने की कोशिश नहीं करनी चाहिए। उनका समर्थन करो, यही हमारा धर्म और कर्म है।' कंगना के इस ट्वीट पर एक रिटायर्ड IAS अफसर सूर्य प्रताप सिंह ने आपत्ति जताई।

कंगना के ट्वीट का जवाब देते हुए सूर्य प्रताप सिंह ने ट्वीट किया, 'कंगना जी, आप प्रधानमंत्री की समर्थक हैं या उनकी धुर विरोधी ? क्यूंकि इस वक्त पर उनकी छवि बिगाड़ने के लिए ऐसा ट्रेंड कोई दुश्मन ही करवा सकता है। जब चारों तरफ लाशें ही लाशें हैं, तब आपका ट्रेंड किसी की 'मैयत' में पटाखे फोड़ने जैसा कृत्य है। आयोडिन युक्त नमक का सेवन करो बेटा।'

आगे कंगना सूर्या प्रताप सिंह को जवाब देते हुए कहती है, 'सूर्या जी, जो इंसान अपना पूरा जीवन देश की सेवा में लगा दे, और बदले में उसे सिर्फ़ ईर्ष्या, नफ़रत और झूठ मिले, इन मुश्किल घड़ियों में ऐसे इंसान को जो पूरे देश का नेतृत्व कर रहा हो उसे मनोबल देना, उसके प्रयासों की, काम की प्रशंसा करना उस पे एहसान नहीं है, इस देश पे एहसान है।'

एक अन्य ट्वीट में कंगना कहती हैं, 'प्रधानमंत्री ही देश हैं, यह विचार रखना कि वो हमसे अलग हैं तो फिर लोकतंत्र का ढोंग ही क्यूं करना, मत देकर एक प्रतिनिधि चुनने का इतना भारी आर्थिक लागत का काम ही क्यूं करना, प्रधानमंत्री देश के लिए पिता समान हैं, उनकी नियत पर संदेह या उनके परास्त/ हार जाने की कामना करना बेवक़ूफ़ी है।'

वहीं सूर्य प्रताप जवाब में कहते हैं, 'प्रधानमंत्री ही देश है?? कंगना जी, जो कोई भी आपके लिए ट्वीट लिख रहा है उसने 8वीं कक्षा तक भी ‘नागरिकशास्त्र’ की किताब नहीं पढ़ी है। लोकतंत्र शासन का वह प्रकार है, जिसमें प्रभुत्व शक्ति समष्टि रूप में जनता के हाथ में रहती है, जनता अन्तिम नियंत्रण रखती है। कृपया और पढ़ाई करें।

गौरतलब है कि कंगना रनौत सोशल मीडिया पर अक्सर बेबाकी से बात रखती हैं। कंगना की इसे लेकर कई बार लोगों से बहस भी हो जाती है। साथ ही साथ वो कई बार ट्रोलर्स के निशाने पर भी आ जाती हैं। कंगना की सूर्य प्रताप संग हुई इस कोल्ड वॉर में भी कई लोगों ने कंगना को ट्रोल करने की कोशिश की। हालांकि ये जुबानी जंग ज्यादा देर तक नहीं चली।