IPL 2021 को लेकर BCCI के बॉस सौरव गांगुली का आया बयान, कही ये बात


BCCI के बॉस Sourav Ganguly ने IPL को लेकर बयान दिया है। (फोटो IPL ANI)

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ अध्यक्ष सौरव गांगुली ने इंडियन प्रीमियर लीग यानी आइपीएल के 14वें सीजन को लेकर कहा है कि आइपीएल 2021 अपने तय कार्यक्रम के साथ आगे बढ़ेगा। कोरोना के कई केस सामने आ चुके हैं जो आइपीएल से जुड़े हैं।

नई दिल्ली, एएनआइ। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने रविवार को पुष्टि की कि आगामी इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) 2021 में सब कुछ तय कार्यक्रम के अनुसार होगा। उनकी पुष्टि महाराष्ट्र सरकार द्वारा सप्ताह के अंत में लॉकडाउन की घोषणा के कुछ घंटों के बाद आई है। कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने वीकेंड पर लॉकडाउन और हर दिन नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया गया है।

पूर्व भारतीय कप्तान और मौजूदा बीसीसीआइ बॉस सौरव गांगुली ने कहा है, "सब कुछ तय कार्यक्रम के अनुसार होगा।" राज्य (महाराष्ट्र) के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि महाराष्ट्र में शुक्रवार शाम 8 बजे से सोमवार सुबह 7 बजे तक कड़ा लॉकडाउन रहेगा। हालांकि, ट्रेन, बस और टैक्सी समेत जरूरी सामन ढोने वाली गाड़ियों को अनुमति होगी। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि कोविड-19 के मामलों को बढ़ाने के मद्देनजर कैबिनेट की बैठक में यह निर्णय लिया गया।

मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में 10 से 25 अप्रैल तक इस सीजन में 10 आइपीएल मैचों खेले जाएंगे। मुंबई के ऐतिहासिक स्टेडियम में पहला मैच 10 अप्रैल को दिल्ली कैपिटल्स और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेला जाना है। चार फ्रेंचाइजी - दिल्ली कैपिटल, मुंबई इंडियंस, पंजाब किंग्स, और राजस्थान रॉयल्स ने मुंबई में अपना आधार स्थापित कर लिया है। पांचवीं फ्रेंचाइजी कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) भी वर्तमान में मुंबई में स्थित है, लेकिन वे जल्द ही 11 अप्रैल को सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ अपना पहला मैच खेलने के लिए चेन्नई का रुख करेंगे।

बीसीसीआइ के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने कहा है कि बीसीसीआइ आइपीएल से पहले खिलाड़ियों के टीकाकरण के बारे में भी सोच रही है। उनका कहना है कि बोर्ड खिलाड़ियों के टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय से संपर्क करेगा। उन्होंने कहा है, "इस कोरोना वायरस वृद्धि का सामना करने के लिए, मुझे लगता है कि टीकाकरण ही एकमात्र समाधान है। बीसीसीआइ उन सभी विकल्पों पर भी सोच रहा है कि खिलाड़ियों को टीका लगाया जाना चाहिए।"