बढ़ते कोरोना मामलों के बीच परीक्षाएं आयोजित कर रहा पाकिस्तान, PM इमरान खान हुए ट्रोल

 

बढ़ते कोरोना मामलों के बीच परीक्षाएं आयोजित कर रहा पाकिस्तान, PM इमरान खान हुए ट्रोल

बढ़ते कोरोना मामलों के बीच पाकिस्तान में परीक्षाएं अपने तय समय में होने के निर्णय के बाद से विरोध तेज हो गया है। प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ ट्वीटर पर ,ImranKhanCancelEXAMS पोस्ट किया। जो इस वक्त टॉप 10 में है।

इस्लामाबाद, एएनआइ। देश-दुनिया में एक तरफ जहां कोरोना वायरस के चलते परीक्षाएं स्थगित की जा रही तो वहीं पाकिस्तान एक ऐसा देश है जहां पर कोरोना का कोई डर नही नजर आ रहा है। जी हां अपने सही पढ़ा। दरअसल, खबर है कि बढ़ते मामलों के बीच पाकिस्तान सरकार ने सभी कैम्ब्रिज परीक्षाएं निर्धारित समय के अनुसार आगे बढ़ाने का एलान किया है। इसके बाद से छात्रों ने विरोध शुरू कर दिया है।

ट्वीटर पर इमरान खान हुआ ट्रोल

पाकिस्तान छात्रों ने ट्विटर पर कोरोना के मामलों में उछाल के बावजूद परीक्षा आयोजित करने के लिए प्रधानमंत्री इमरान खान को ट्रोल किया है। छात्रों ने सरकार और  कैम्ब्रिज इंटरनेशनल परीक्षाओं के फैसले का विरोध किया। जियो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रदर्शनकारी छात्रों के पोस्ट के कारण ट्विटर पर #ImranKhanCancelEXAMS पाकिस्तान में टॉप ट्रैंड में बन गया है। 

सभी कैम्ब्रिज परीक्षाएं निर्धारित समय के अनुसार आगे बढ़ाने का फैसला

शिक्षा राज्य मंत्री शफाक़त महमूद के अनुसार, सभी कैम्ब्रिज परीक्षाएं निर्धारित समय के अनुसार आगे बढ़ेंगी, और इस साल शिक्षक मूल्यांकन किए गए ग्रेड का उपयोग नहीं किया जाएगा। यानी इसका मतलब हुआ है कि एएस और ए स्तर की परीक्षा 26 अप्रैल से शुरू होगी और ओ लेवल, आईजीसीआर परीक्षाएं 10 मई को शुरू हो जाएगी। 

मैट्रिकुलेशन और इंटरमीडिएट बोर्ड की परीक्षाएं  स्थागित

जियो रिपोर्ट के मुताबिक, दूसरी ओर, मैट्रिकुलेशन और इंटरमीडिएट बोर्ड की परीक्षाएं (Matriculation and Intermediate board exams) स्थगित कर दी गई हैं और मई के अंत से पूरे प्रांतों में अलग-अलग जगह आयोजित की जाएगी। 

इसके बाद से छात्रों ने लगातार परीक्षाओं पर रोक लगाने के लिए सरकार पर दबाव बनाए हुआ है। शुरू में शिक्षा मंत्री से अनुरोध करते हुए छात्रों ने कार्यक्रम के अनुसार आगे बढ़ने के निर्णय पर पुनर्विचार करने को कहा था। इसके बाद अब प्रधानमंत्री इमरान खान का ध्यान इस ओर आकर्षित करने के लिए ट्वीटर पर विरोध किया गया है।