कोरोना से राजद नेत्री के पति का निधन, पटना के SP रहे अरुण चौधरी ने तोड़ा दम

 

राजद की प्रदेश महासचिव मधु मंजरी अपने पति के साथ। युवा राजद के ट्वटिर अकाउंट से साभार

 बिहार में कोरोना वायरस के कारण होने वाली मौतों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। शनिवार को स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक 24 घंटे के अंदर एक दिन में सबसे अधिक मौतें रिकाॅर्ड की गई हैं।

पटना, ऑनलाइन डेस्‍क। बिहार में कोरोना वायरस की संक्रमण दर बेकाबू होते जा रही है। शनिवार को 24 घंटे के अंदर राज्‍य में करीब साढ़े 12 हजार नए कोरोना संक्रमित पाए गए। अकेले पटना जिले में ढाई हजार से अधिक नए संक्रमित मिले हैं। राज्‍य में सक्रिय मरीजों की संख्‍या सरकारी आंकड़ों के मुताबिक 80 हजार के पार चली गई है और अगले कुछ दिनों में इसके एक लाख पार कर जाने की पूरी उम्‍मीद है। पटना के एसपी रहे अरुण चौधरी की कोरोना से मौत हो गई। उत्तर प्रदेश में उन्होंने अंतिम सांस ली। यहां आप आज दिनभर बिहार में कोरोना वायरस के संक्रमण और टीकाकरण से जुड़ी हर बड़ी खबर का अपडेट लगातार हासिल कर सकते हैं।

05.24 PM - भभुआ में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है। काफी लोग संक्रमित हो रहे हैं। लोगों की जान जा रही है। इसके बावजूद लोग लापरवाह बने हुए हैं। जो घातक सिद्ध हो रहा है। सरकारी तौर पर कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को ले जारी गाइडलाइन का अनुपालन सुनिश्चित कराने के लिए पदाधिकारी सड़कों पर घूम रहे हैं। इसके बाद भी बिना सोशल डिस्टेंसिंग बनाए जगह जगह भीड़ दिखाई दे रही है। 

04.47 PM - गोपालगंज में वर्तमान समय में कोरोना के एक्टिव केस की संख्या 1373 हो गई है। जिले में कुल संक्रमित मामले में से 603 मामले सदर अनुमंडल में हैं। जबकि हथुआ अनुमंडल में एक्टिव केस की संख्या 770 है। जिला मुख्यालय में नगर थाना से लेकर मौनिया चौक, न्यायालय परिसर स्टेट बैंक चौक आदि इलाकों में सबसे अधिक संक्रमण के मामले सामने आए हैं। हथुआ अनुमंडल में सबसे अधिक संक्रमण के आंकड़े हथुआ प्रखंड के अलावा भोरे प्रखंड में हैं।

04.17 PM - औरंगाबाद में कोरोना से संक्रमित मरीजों से उनके मोबाइल पर वीडियो कॉल कर स्वास्थ्य की जानकारी ली जा रही है। समाहरणालय स्थित जिला नियंत्रण कक्ष से घरों पर आइसोलेशन में रह रहे मरीजों के मोबाइल पर वीडियो कॉल कर दवा की जानकारी ली रही है। नियंत्रण कक्ष में तैनात चिकित्सक के द्वारा मरीजों से खाने वाली दवा के बारे में जानकारी लेने के बाद जो दवा की जरूरत समझी जा रही है वह खाने के लिए बताया जा रहा है। 

03.50 PM - बिहार कैडर के सीनियर आइपीएस रहे अरुण चौधरी की कोरोना से रविवार को उत्तर प्रदेश के नोएडा में मौत हो गई। अरुण चौधरी पटना में एसपी के पद पर भी रहे थे। बिहार में पोस्टिंग के दौरान उन्होंने काफी लंबा सफर तय किया था। 

02.50 PM - कैमूर जिले के पॉजिटिव मिले लोग कोरोना को मात दे रहे हैं। यह लोगों की जागरूकता और खान-पान पर ध्यान देने का ही परिणाम है कि कैमूर जिले में स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या भी काफी संतोषजनक है। यही वजह है कि जिला प्रशासन के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग लगातार लोगों को जागरूक कर रहा है कि सावधानी से कोरोना को हराया जा सकता है। 

02.50 PM - खगड़िया जिले में कोरोना से जान गंवाने वालों का सिलसिला लगातार जारी है। कोरोना से अलौली बाजार में रविवार को भी एक अधेड़ पुरुष की मौत हो गई। अब तक जिले में कुल 12 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। 

02.00 PM - बिहार के नवादा जिले में डीएम यशपाल मीणा ने स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था का जायजा लेने के लिए बाइक से दौरा किया। वे देर रात को अचानक बाइक से सदर अस्‍पताल पहुंचे और मरीजों का हाल जाना। ऑक्‍सीजन सिलेंडर ला रही गाड़ी के जाम में फंसने पर वह खुद ही मौके पर पहुंच गए।

01.25 PM - राष्‍ट्रीय जनता दल की प्रदेश महासचिव मधु मंजरी जी के पति छोटे लाल मेहता का रविवार की सुबह निधन हो गया। युवा राजद की ओर से ट्वीट कर बताया गया है कि उन्‍होंने कुछ दिन पहले ही कोरोना का का पहला टीका ले लिया था। इसके बावजूद उन्‍हें बचाया नहीं जा सका। डॉक्‍टरों का कहना है कि कोरोना का टीका दूसरी डोज लेने के दो हफ्ते बाद असरदार होता है।

12.45 PM - शेखपुरा के आइसोलेशन केंद्र में भर्ती दो महिला मरीज की मौत हो गई। शनिवार की रात की यह घटना है। इस घटना की पुष्टि आइसोलेशन के केंद्र प्रभारी डॉ अशोक कुमार के द्वारा की गई है। इस संबंध में मिली जानकारी में बताया गया कि दोनों महिलाओं का इलाज आइसोलेशन केंद्र में हो रहा था। इसी दौरान रात्रि में तबीयत बिगड़ने पर उनकी मौत हो गई।

12.15 PM - बिहार में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सरकार ने जांच की संख्‍या बढ़ाने पर लगातार जोर दे रखा है। शनिवार को राज्‍य में 1,01,428 लोगों के सैंपल की जांच की गई। एंटीजन किट से जांच की रिपोर्ट तुरंत दे दी गई, जबकि आरटीपीसीआर जांच की रिपोर्ट एक से दो दिन में दी जा रही है। परेशानी की बात यह है कि मरीजों की रिकवरी रेट लगातार गिरती जा रही है। शनिवार को रिकवरी रेट गिरकर 78.5 के करीब रह गई है।

11.40 AM - बिहार के अब तक 65 लाख से अधिक लोग कोरोना का टीका लगवा चुके हैं। शनिवार को ही करीब 70 हजार लोगों ने कोविड का टीका लगवाया है। राज्‍य में करीब 10 लाख लोग टीके की दोनों खुराक ले चुके हैं। टीके लगवाने वाले लोग कोरोना के आक्रमण से काफी हद तक सुरक्षित हो चुके हैं। एक मई से टीकाकरण केंद्रों पर नियम बदलेगा और भीड़ बढ़ेगी। बेहतर यह है कि आप जल्‍द से टीका लगवा लें।

11.00 AM - बिहार में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के लिए बेड की उपलब्‍धता बढ़ाने के लिए कई स्‍तर पर काम हो रहे हैं। पटना के प्रमंडलीय आयुक्‍त संजय अग्रवाल ने पीएमसीएच में भर्ती कोविड मरीजों की तबीयत में सुधार होने के बाद उन्‍हें होटल पाटलिपुत्र शिफ्ट करने का सुझाव दिया है। इससे गंभीर मरीजों के लिए बेड की उपब्‍धता में सुधार होगा।

10.20 AM - बिहार में अब हर घंटे करीब तीन मरीज कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से दम तोड़ रहे हैं। रोजाना स्‍वस्‍थ होने वालों की तादाद इसी दौरान नए मिलने वाले संक्रमितों के करीब आधी है। यानी जितने लोग कोरोना को हराकर ठीक हो रहे हैं, उससे दोगुना हर रोज नए बीमार हो रहे हैं। नए मरीजों के लिए पटना के अस्‍पतालों में बेड कम पड़ रहे हैं, हालांकि राज्‍य के दूसरे हिस्‍सों के अस्‍पतालों में यह समस्‍या बरकरार है।

09.45 AM - पटना स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान, एनएमसीएच और पीएमसीएच के लगभग 12 डॉक्टर सहित 2479 लोग शनिवार को संक्रमित हो गए, जबकि 37 मरीजों की मौत हो गई। एनएमसीएच में कई दिनों बाद शनिवार को इलाज के बाद 17 मरीज कोरोना को मात देकर घर लौटे। हालांकि, इलाज के दौरान पटना के ही अस्‍पतालों में 21 मरीजों की मौत हो गई।

09.10 AM - बिहार में पूर्ण लॉकडाउन की चर्चाएं एक बार फिर तेज हो गई हैं। सरकार में प्रमुख सहयोगी दल भाजपा के प्रदेश अध्‍यक्ष संजय जायसवाल और सरकार के मंत्री राम सूरत राय भी कड़े कदम उठाने की अपील कर चुके हैं। इधर, राजद के प्रदेश अध्‍यक्ष जगदानंद सिंह ने कहा है कि उनका दल आपदा की घड़ी में सरकार के साथ है। सरकार को स्थिति को देखते हुए फैसला लेना चाहिए। एम्‍स के डॉक्‍टरों की ओर से लॉकडाउन की सलाह दिए जाने के बाद इस चर्चा को बल मिला है।

08.30 AM - बिहार के सबसे बड़े कोविड अस्‍पताल पटना स्थित एनएमसीएच में फिलहाल उपलब्‍ध डॉक्‍टरों के 70 फीसद ही ड्यूटी कर पा रहे हैं। करीब 30 फीसद डॉक्‍टर संक्रमण की चपेट में आने के कारण क्‍वारंटाइन हो चुके हैं। ऐसी हालत में मरीजों का उपचार करना मुश्किल हो रहा है। यहां पीजी डॉक्‍टर और जूनियर डॉक्‍टरों की वजह से हालात संभाले जा रहे हैं।

08.00 AM - बिहटा के ईएसआइसी अस्‍पताल में अभी केवल 50 बेड पर ही कोरोना मरीजों का इलाज हो रहा है। कोरोना की पिछली लहर के वक्‍त यहां 500 बेड का कोविड अस्‍पताल शुरू किया गया था। यहां तत्‍कालिक तौर पर आइजीआइएमएस के डॉक्‍टरों की देखरेख में इलाज शुरू किया गया था, लेकिन अब यहां आर्मी मेडिकल कोर ने भी मोर्चा संभाल लिया है। अस्‍पताल में 200 बेड पर कोरोना के मरीजों का इलाज शुरू करने की कोशिश शुरू कर दी गई है। हालांकि इसके लिए मेडिकल स्‍टाफ की कमी आड़े आ रही है।

07.30 AM - बिहार में एक मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों के लिए कोरोना का टीकाकरण आरंभ हो जाएगा। हालांकि इस बार टीकाकरण से जुड़े नियम में एक बड़ा बदलाव कर दिया गया है। एक मई के बाद टीका लगवाने के लिए पहले से ऑनलाइन रजिस्‍ट्रेशन कराना जरूरी हो जाएगा। फिलहाल ऑन स्‍पॉट रजिस्‍ट्रेशन करवा कर टीका लगवाया जा सकता है। एक मई से टीकाकरण के लिए रजिस्‍ट्रेशन की शुरुआत दो दिन पहले यानी 28 अप्रैल को ही हो जाएगी। इसके लिए आप कोविन पोर्टल या फिर आरोग्‍य सेतु एप के जरिये रजिस्‍ट्रेशन करा सकते हैं। रजिस्‍ट्रेशन या टीकाकरण के लिए कही भी आपको एक रुपया देने की जरूरत नहीं है। पूरी प्रक्रिया नि:शुल्‍क है। चाहे आप सरकारी या निजी टीकाकरण केंद्र कहीं भी वैक्‍सीन  लगवाएं।

07.00 AM - पटना के नजदीक बिहटा के ईएसआइसी अस्‍पताल में कोरोना मरीजों के इलाज के मुद्दे पर राज्‍य और केंद्र सरकार के बीच तालमेल का जबर्दस्‍त अभाव दिख रहा है। पिछले एक सप्ताह से यहां आर्मी मेडिकल कोर की टीम आई है। टीम व अस्पताल प्रबंधक के बीच हॉस्पिटल में जरूरी आवश्यकताओं के मद्देनजर कई बैठकें हुईं। इधर, अस्पताल में 10 बेड आइसीयू की जिम्मेवारी आइजीआइएमएस के छह विशेषज्ञ चिकित्सक संभाल रहे थे, लेकिन शनिवार को एक ई-मेल आने के बाद सोमवार से उन्हें वापस बुला लिया गया है। इनके जाने के बाद आइसीयू सोमवार से कैसे चलेगा? इस पर सवाल खड़े हो गए हैं। शनिवार को बैठक में सेना की टीम ने कहा कि इतने बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर को संभालने के लिए उनके पास पर्याप्त डॉक्टर्स व स्टॉफ नहीं हैं। उनके द्वारा राज्य सरकार व ईएसआइसी को कहा गया कि आप चलाइए, इसमें हमारी टीम आपको मदद करेगी।

06.30 AM - पटना एम्‍स के डॉक्‍टरों ने राज्‍य में 10 दिनों का पूर्ण लॉकडाउन का सुझाव दिया है। डॉक्‍टरों का कहना है कि ऐसा करके कोरोना की चेन को तोड़ने में मदद मिलेगी। फिलहाल राज्‍य में संक्रमण की रफ्तार बेकाबू होते जा रही है। एक हफ्ते पहले रोजाना 5 हजार के करीब नए संक्रमित मिल रहे थे, लेकिन अब रोजाना मिलने वाले संक्रमितों की तादाद 12 हजार को पार कर गई है और यह संख्‍या लगातार बढ़ रही है।