प्रधानमंत्री मोदी का ममता बनर्जी पर जोरदार हमला, कहा- 'तोलाबाजी' में एक्सपर्ट है दीदी की पार्टी TMC

 

कृष्णानगर के जनसभा में प्रधानमंत्री मोदी का संबोधन

सिलीगुड़ी के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कृष्णानगर में एक जनसभा को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने सिलीगुड़ी में आयोजित जनसभा में ममता बनर्जी पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा बंगाल की जनता ने ठान लिया है कि वह तृणमूल कांग्रेस को बाहर करके ही दम लेगी।

नई दिल्ली, एएनआइ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कृष्णानगर में एक जनसभा को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने सिलीगुड़ी के बाद यहां भी जनसभा में बंगाल की मौजूदा ममता  सरकार पर निशाना साधा। प्रधानमंत्री मोदी ने जनसभा को संबोधित कर ममता बनर्जी पर आरोप लगाया कि यहां की TMC सरकार की प्राथमिकता में शिल्प, बिजनेस, चाकरी, निवेश नहीं है बल्कि दीदी की टीएमसी सिर्फ तोलाबाजी के साथ कटमनी-सिंडिकेट में एक्सपर्ट है। दीदी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस 'छप्पा भोट' में एक्सपर्ट है।

बंगाल में भाजपा सरकार खोलेगी सबकी फाइल

प्रधानमंत्री ने कहा, 'बंगाल की भाजपा सरकार में नए अस्पतालों के निर्माण के साथ ही पुराने अस्पतालों को बेचने वालों, जमीन पर अवैध कब्जा करने वालों, सबकी फाइल खुलेगी। जिन्होंने बंगाल के लोगों को लूटा है, उन सभी को सजा मिलेगी।' प्रधानमंत्री ने ममता पर हमलों को जारी रखते हुए कहा, 'दीदी ने आपसे इस पूरे क्षेत्र को मेडिकल हब बनाने का वादा किया था। मेडिकल हब तो नहीं बना, लेकिन मुझे बताया गया है कि जो यहां इतना बड़ा टीबी अस्पताल था, उसके ईंट-पत्थर तक तृणमूल के तोलाबाज बेचकर खा गए।'

फैसले सरकार करेगी तोलाबाज नहीं

प्रधानमंत्री ने कहा, 'भारतीय जनता पार्टी  की डबल इंजन सरकार, बंगाल को नया राजनीतिक वातावरण देगी। सरकार के फैसले सरकार तय करेगी तोलाबाज नहीं। प्रशासन के फैसले प्रशासन लेगा, तोलाबाज नहीं। पुलिस के फैसले, पुलिस करेगी, तोलाबाज नहीं। इस बार बैसाख की आंधी, टीएमसी सरकार और उसके गुंडों को भी उड़ा कर ले जाएगी।' 

हताशा में दीदी

प्रधानमंत्री ने यहां भी ममता को दीदी कहकर संबोधित किया और कहा, 'आज दीदी, केंद्रीय वाहिनी को गाली दे रही हैं। आज दीदी, EVM को गाली दे रही हैं। हालत तो ये है कि दीदी आज अपनी पार्टी के ही पोलिंग एजेंट्स को गाली देने लगी हैं। दीदी के साथी अनुसूचित जाति के लोगों को गाली दे रहे हैं। दीदी इतनी हताश हो चुकी हैं कि वो बंगाल के मतदाताओं को बदनाम कर रही हैं। चुनाव में हार निश्चित देख दीदी अब अपने पुराने खेल पर उतर आई है।' प्रधानमंत्री ने कहा, 'जिन मुस्लिम बहनों, बेटियों ने दीदी को इतना प्यार दिया, उनके साथ तो दीदी ने बहुत ही बुरा किया। भाजपा सरकार ने तीन तलाक की प्रताड़ना से मुक्त करने के लिए सख्त कानून बनाया। लेकिन दीदी मुस्लिम बहनों के ही विरोध में खड़ी हो गईं। बहन-बेटियों के साथ जघन्य अपराध होते रहे, दीदी चुप रहीं।'

उन्होंने कहा, ' जनता जनार्दन ईश्वर का ही रूप होती है। जनता के सामने किसी का अहंकार नहीं टिक पाता। लेकिन दीदी को ये बात समझ नहीं आती। आज दीदी, चुनाव आयोग को गाली दे रही हैं।' उन्होंने कहा, 'दशकों के लंबे इंतजार के बाद बंगाल में आशोल पोरिबोरतोन का महायज्ञ शुरू हुआ है। ये महायज्ञ तुष्टिकरण करने वालों, तोलाबाजी करने वालों, बंगाल की महान जनता का तिरस्कार करने वालों को सबक सिखाएगा।'

सिलीगुड़ी में जनसभा

इससे पहले प्रधानमंत्री ने सिलीगुड़ी में जनसभा को संबोधित किया। गोरखा टोपी लगाए प्रधानमंत्री ने 'बांग्ला' भाषा में संबोधन की शुरुआत की। प्रधानमंत्री मोदी ने बार-बार 'दीदी ओ दीदी' कह ममता बनर्जी पर जोरदार हमला बोला। प्रधानमंत्री ने कहा, 'भाजपा सरकार के बनने के बाद 'ट्रिपल टी'- टी (चाय), टूरिज्म (पर्यटन) और टिंबर को प्राथमिकता दी जाएगी।' अपने संबोधन में कहावत और कहानी का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री ने ममता बनर्जी पर निशाना साधा और कहा, 'दीदी ओ दीदी अब आपको गरीब का दर्द और परेशानी नहीं दिखती। गरीबों की दुश्मन टीएमसी सरकार को अब जाना ही होगा।'

इस जनसभा में केंद्रीय पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल, सांसद राजू बिष्ट, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष भी शामिल हुए। दिलीप घोष ने प्रधानमंत्री को राम मंदिर की आकृति का स्मृति चिन्ह प्रदान किया है।

किसानों से पीएम ने किया वादा 

प्रधानमंत्री ने बंगाल के किसानों को भी इस बात का आश्वासन दिया कि PM किसान सम्मान निधि का जो 18 हजार रुपये दीदी ने रोका है वो भी तेजी से आपके खाते में जमा किया जाएगा। मैं सिलीगुड़ी सहित नॉर्थ बंगाल के हर गरीब, हर कृषक परिवार के सामने अपना एक और वादा दोहराना चाहता हूं। सिलीगुड़ी में ही कुछ दिन पहले दीदी ने कहा कि उनके तोलाबाज तो सिर्फ 100-500 रुपए लेते हैं, इसमें क्या बड़ी बात! प्रधानमंत्री ने कहा, 'बंगाल में भाजपा सरकार की पहली कैबिनेट बैठक में ही आपके हित में फैसले लेने का काम शुरू हो जाएगा। ये बंगाल की स्वाभिमानी बहनें है जो हर दुख, तकलीफ के बावजूद अपनी मेहनत का खाती हैं, अपने स्वाभिमान से तकलीफों को सहन करती हैं, लेकिन स्वाभिमान को नहीं छोड़ती हैं।' 

चुनाव प्रक्रिया में रोड़े अटका रही है ममता: प्रधानमंत्री 

 प्रधानमंत्री ने यहां तक कहा, 'मैंने सोशल मीडिया में एक वीडियो देखा जिसमें दीदी के करीबी, बंगाल के टूरिज्म मिनिस्टर और यहां पास के विधायक लोगों को धमका रहे थे। उन्होंने कहा कि BJP को वोट दिया तो लोगों को उठाकर बाहर फेंक दिया जाएगा। ये सब कुछ कैमरे में कैद है, ये गुंडागर्दी खुलेआम है। दीदी ये हिंसा, लोगों को सुरक्षा बलों पर आक्रमण करने के उकसाने के तरीके, चुनाव प्रक्रिया में रोड़े अटकाने के तरीके आपको नहीं बचा पाएंगे। आपके 10 साल के कुकर्मों से ये हिंसा आपकी रक्षा नहीं कर सकती है।' प्रधानमंत्री ने कहा, 'अपनी कुर्सी जाते देख, दीदी इस स्तर पर उतर आई हैं। लेकिन मैं दीदी, TMC, उनके गुंडों को साफ-साफ कह देना चाहता हूं। दीदी और TMC की मनमानी बंगाल में नहीं चलने दी जाएगी। मेरा चुनाव आयोग से आग्रह है कि कूचबिहार में जो हुआ, उसके दोषियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई हो।' 

2 मई के बाद बंगाल में भाजपा की डबल इंजन सरकार

प्रधानमंत्री ने कहा, 'असम में भाजपा की डबल इंजन सरकार ने चाय बगान में काम करने वाले साथियों को घर, अस्पताल, स्कूल, भूमि पट्टा और लगभग दोगुनी मजदूरी सुनिश्चित की है। ऐसे ही काम 2 मई के बाद बंगाल में भी होने वाले हैं।' उन्होंने कहा, 'बंगाल में भाजपा की सरकार बनने के बाद इस क्षेत्र से ऐसी हर ताकत को हटाया जाएगा जिसे टीएमसी ने लाकर बसाया है।' 

प्रधानमंत्री मोदी ने बंगाल की ममता सरकार को बुरी तरह घेरा और कहा, 'दीदी अपनी रैलियों में अपने छप्पा भोट गैंग को ट्रेनिंग देने लगी हैं कि सुरक्षा बलों का घेराव कैसे करना है, कैसे उनको पीटना है और कैसे बूथ पर हमला करना है। देश के बहादुर सुरक्षा बल आतंकवादियों, नक्सलियों से नहीं डरते तो आपके पाले-पोसे गुंडों और आपकी धमकियों से डरेंगे क्या? दीदी और TMC के नेताओं की सोच क्या है ये अब खुलकर सामने आ रहा है। एक वीडियो सामने आया है जिसमे दीदी की करीबी एक नेता ने अनुसूचित जाति के लोगों का बहुत बड़ा अपमान किया है, उन्होंने कहा कि बंगाल में जो अनुसूचित जाति है, वो समुदाय भिखारियों की तरह व्यवहार करती है।'

ममता सरकार पर आरोपों की बौछार

ममता बनर्जी पर आरोपों का बौछार करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, 'दीदी जहां जाती हैं मोदी को गाली देती हैं । उन्होंने 10 साल तक शासन किया । उन्हें अपने कार्यों की जानकारी देनी चाहिए । लेकिन ऐसा नहीं कर वह मोदी को गालियां देती हैं।'  प्रधानमंत्री मोदी ने ममता सरकार पर आरोप लगाया कि जलधन योजना का पैसा हड़प गई। उन्होंने कहा, 'भाजपा सरकार ने शौचालय बनवाए, उज्जवला का गैस कनेक्शन दिया, आयुष्मान भारत योजना की सुविधा दी लेकिन दीदी ने इसे लागू नहीं होने दिया लेकिन भाजपा सरकार के आने के बाद बंगाल की जनता को सारी सुविधाओं का लाभ मिलेगा।'  

हर स्कीम में टोलाबाजी, हर स्कीम में कटमनी

 प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'कोरोना काल में केंद्र ने जो अनाज भेजा उसे तोलाबाजों ने लूट लिया। दीदी ने गरीबों, दलितों, आदिवासियों, पिछड़ों किसी को उनका जायज हक नहीं दिया। दीदी ने घर में नल से जल नहीं दिया, खेतों में सिंचाई का पानी नहीं दिया, लेकिन यहां की नदियों को माफियाओं के हवाले जरूर कर दिया। हर स्कीम में टोलाबाजी, हर स्कीम में कटमनी। प्रधानमंत्री ने कहा, 'यह क्षेत्र देश की सुरक्षा के लिए काफी महत्वपूर्ण है। लेकिन अंदर से ही देश की सुरक्षा को चुनौती दी जा रही है। तुष्टीकरण की राजनीति में सुरक्षा को प्रभावित किया है। केंद्र सरकार ऐसे तत्वों से से निपट रही है।'

जनसभा में शामिल लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, 'दीदी को आपसे भी परेशानी है, वो कहती हैं कि लोग जनसभा में पैसा लेकर आते हैं।' ' उन्होंने कहा कि हिंसा और तोलाबाजी से सबसे ज्यादा परेशान हमारी माताएं और बहनें हैं। इसलिए भाजपा की हर जनसभा में भारी संख्या में माताएं एवं बहने आती हैं। भाजपा की सरकार बनेगी तो उनकी समस्याएं दूर होगी।

बंगाल की जनता ने ठान लिया-  

प्रधानमंत्री ने कहा, 'उत्तर बंगाल, भारत मां के गले में ऐसी भव्य माला है जिसमें अलग-अलग भाषा, जाति, भिन्न-भिन्न समुदाय के लोग अलग-अलग फूलों में गुंथे हुए हैं। यहां एक भारत-श्रेष्ठ भारत की सुंदर तस्वीर दिखती है।' उन्होंने कहा,'बंगाल के लोग यही रहेंगे दीदी लिख कर रखिए यदि जाना है तो सरकार से आपको जाना होगा। दीदी ओ दीदी, आप बंगाल के लोगों की भाग्यविधाता नहीं है इसलिए यहां के लोगों ने तय कर लिया है कि आपको जाना ही होगा। यह बंगाल की जनता ने ठान लिया है कि आपको निकाल कर ही दम लेने वाली है।'