उस डॉक्टर का नाम जिन्होंने शिखर धवन का लगाई कोविड-19 वैक्सीन की पहली खुराक

 

जानिये, उस डॉक्टर का नाम जिन्होंने शिखर धवन का लगाई कोविड-19 वैक्सीन की पहली खुराक

 कोरोना की टीका लगवाने की मुहिम में सेलिब्रिटी भी शामिल हो रहे हैं। इस कड़ी में भारतीय क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने बृहस्पतिवार को कोरोना के टीके का पहला डोज ले लिया।

नई दिल्ली/गुरुग्राम। कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ जंग तेज हो गई है। कोरोना की टीका लगवाने की मुहिम में सेलिब्रिटी भी शामिल हो रहे हैं। इस कड़ी में भारतीय क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने बृहस्पतिवार को कोरोना के टीके का पहला डोज ले लिया। जागरण संवाददाता से मिली जानकारी के मुताबिक, गुरुग्राम के पटेल नगर स्थित डिस्पेंसरी में बने कोरोना टीकाकरण केंद्र में भारतीय क्रिकेट टीम के बल्लेबाज शिखर धवन को डॉ. उमंग ने टीका लगाया।  इस दौरान डॉक्टर उमंग ने क्रिकेटर शिखर को टीके के बाद पैदा होने की मामूली दिक्कतों के बारे में भी बताया। डॉक्टर उमंग ने टीका लगान के बाद शिखर धवन से कहा कि बुखार, थकान जैसी मामूली परेशानी कोरोना का टीका लगाने के बाद आती है, ऐसे में बुखार आने की स्थिति में पैरासीटा मॉल ले सकते हैं। वैसे विशेषज्ञ पहले भी कहते रहे हैं कि कोरोना का टीका लगाने के बाद पानी अधिक पीना चाहिए और आराम करना चाहिए, हालांकि यह वैज्ञानिक रूप से सिद्ध नहींं हुआ है।

यहां पर बता दें कि इस साल इंडियन प्रीमियर लीग बीच में ही स्थगित होने के बाद क्रिकेटर अपने-अपने घर लौटे हैं। इस कड़ी में दिल्ली कैपिटल्स की ओर से खेलने वाले 'गब्बर' शिखर धवन भी घर लौट आए हैं। बताया जा रहा है कि उन्होंने टूर्नामेंट से फ्री होते ही बृहस्पतिवार को कोविड-19 वैक्सीन की पहली खुराक ले ली है। उन्होंने इस मोमेंट की तस्वीर इंस्टाग्राम पर शेयर की। इसमें उन्होंने लिखा- वैक्सीन डन। हमारे सभी फ्रंटलाइन योद्धाओं को उनके बलिदान और समर्पण के लिए धन्यवाद नहीं दिया जा सकेगा। कृपया संकोच न करें और जितनी जल्दी हो सके अपने आप को वैक्सीन लगवाएं। यह इस वायरस को हराने में हमारी मदद करेगा।

यहां पर बता दें कि कोरोना के टीके को लेकर तरह तरह की भ्रांतियां पैदा की जा रही है, जिसका कोई आधार नहीं है। ऐसे में सेलिब्रिटी के आगे आने और टीका लगवाने से आम लोगों में भी भरोसा बढ़ेगा।

जानें- डॉक्टर उमंग के बारे में

  • डॉ. उमंग गुरुग्राम सेक्टर-5 रहती हैं
  • इन्हें पहली पोस्टिंग गुरुग्राम के पटेल नगर स्थित डिस्पेंसरी में पिछले साल दिसंबर महीने में मिली।
  • डॉक्टर उमंग ने एमबीबीएस की डिग्री राजस्थान के झालावाड़ से ली है।