दिल्ली के बत्रा अस्पताल में फिर ऑक्सीजन का संकट, 2 घंटे के दौरान 12 मरीजों की मौत

ऑक्सीजन नहीं मिलने के कारण सभी 8 मरीजों की जान गई है।
दिल्ली के बत्रा अस्पताल के डायरेक्टर का कहना है कि यहां पर भर्ती 8 मरीजों की मौत ऑक्सीजन की कमी से हो गई। ऑक्सीजन नहीं मिलने के कारण सभी 8 मरीजों की जान गई है।

नई दिल्ली, संवाददाता। सरकार और प्रशासन के दावों के उलट देश की राजधानी दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों में ऑक्सीजन का संकट बरकरार है। इस बीच दिल्ली के बत्रा अस्पताल में बुरी खबर आ रही है। बत्रा अस्पताल के डायरेक्टर का कहना है कि यहां पर भर्ती 12 मरीजों की मौत ऑक्सीजन की कमी के चलते हो गई है। ऑक्सीजन नहीं मिलने के कारण सभी 12 मरीजों की जान गई है। अस्पताल में भर्ती तकरीबन 300 मरीजों की जान भी संकट में है। यहां पर बता दें कि कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज कर रहे दिल्ली के बत्रा अस्पताल में शनिवार को एक बार फिर ऑक्सीजन की किल्लत हो गई अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक, यहां पर कुल 307 मरीज भर्ती थे इस दौरान ऑक्सीजन नहीं मिलने से 12 मरीजों की मौत हो गई। 

बत्रा अस्पताल ने इस बाबत शनिवार को दिल्ली हाई कोर्ट को जानकारी दी है। इसके मुताबिक, उनके यहां ऑक्सीजन की भारी किल्लत है। बत्रा अस्पताल के अधिकारियों का कहना है कि शनिवार सुबह 6 बजे से SOS में थे। हमारे पास 307 मरीज भर्ती हैं, जिनमें से 230 ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं।

अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ. एससीएल गुप्ता ने बताया कि शनिवार सुबह सात बजे से ही वह दिल्ली सरकार से गुहार लगा रहे थे कि कुछ ही घंटे की ऑक्सीजन बची है। इसके बावजूद ऑक्सीजन नहीं मिली। उन्होंने कहा कि हर 10 मिनट पर वह संबंधित अधिकारियों को अपडेट दे रहे थे, लेकिन अधिकारियों ने समय पर ऑक्सीजन नहीं भेजा। इस कारण 12.45 से डेढ़ बजे तक मरीज बिना ऑक्सीजन के रहे। इसमें आठ मरीजों की मौत हो गई।यहां पर बता दें कि दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी को लेकर पिछले एक सप्ताह से लगातार दिल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई चल रही है।