पीएम मोदी और बोरिस जॉनसन के बीच हुई वर्चुअल समिट, 2030 तक द्विपक्षीय व्यापार संबंधों का तैयार हुआ रोडमैप
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बोरिस जॉनसन की फाइल फोटो

दोनों देशों के शीर्ष नेताओं के बीच हुई बातचीत को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि हमने भारत और ब्रिटेन के संबंधों को व्यापक सामरिक भागीदारी के लिए एक महत्वाकांक्षी रोडमैप 2030 को अपनाया है।

नई दिल्ली, एजेंसियां। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन के बीच वर्चुअल समिट हुई। दोनों देशों के शीर्ष नेताओं के बीच हुई बातचीत को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि हमने भारत और ब्रिटेन के संबंधों को व्यापक सामरिक भागीदारी के लिए एक महत्वाकांक्षी रोडमैप 2030 को अपनाया है। पीएम मोदी ने कहा कि हमने साल 2030 तक द्विपक्षीय व्यापार को दोगुने से अधिक करने के लक्ष्य के साथ एक व्यापक एफटीए के रोडमैप के रूप में एक उन्नत व्यापार साझेदारी के शुभारंभ का स्वागत किया है। हम स्वास्थ्य, प्रौद्योगिकी और ऊर्जा समेत नए अहम पहलुओं पर भी सहमत हुए हैं।

वर्चुअल समिट की अधिक जानकारी देते हुए विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने बताया कि दोनों शीर्ष नेताओं ने महामारी के खिलाफ लड़ाई में कोरोना की स्थिति और इस पर चल रहे वैश्विक सहयोग पर विशेष चर्चा की। बैठक में पारस्परिक हित के क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान किया गया।बागची ने बताया कि एलीवेटिंग इंडिया- यूनाइटेड किंगडम एक व्यापक रणनीतिक साझेदारी से संबंधित है। दोनों देशों के बीच वर्चुअल समिट में एक महत्वाकांक्षी 'रोडमैप 2030' को अपनाया गया है। यह अगले दशक में 5 प्रमुख क्षेत्रों में गहन और मजबूत जुड़ाव का मार्ग प्रशस्त करेगा।

बता दें कि भारत और ब्रिटेन के व्यापारिक संबंध और गहरे बने रहे इसके लिए 3 से 6 मई तक केंद्रीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ब्रिटेन में है जहां वे G-7 विदेश मंत्रियों की बैठक में हिस्सा ले रहे हैं। उन्हें इसमें एक अतिथि देश के तौर पर आमंत्रित किया गया है। यहां वे ब्रिटेन की द्विपक्षीय यात्रा भी करेंगे और अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन के साथ भी बैठक करेंगे।