ओलंपियन सुशील कुमार के 4 करीबी गिरफ्तार, असौदा गैंग से निकला चारों का कनेक्शन

 

Sagar Dhankar Murder Case: ओलंपियन सुशील कुमार के 4 करीबी गिरफ्तार,

क्राइम ब्रांच ने अब मुख्य आरोपित सुशील कुमार से पूछताछ के आधार पर उसके अन्य साथियों की भी धरपकड़ तेज कर दी है। इसी कड़ी में क्राइम ब्रांच ने सुशील के चार करीबियों को भी गिरफ्तार किया है।

नई दिल्ली, संवाददाता। जूनियर पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड की जांच में जुटी दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने अब मुख्य आरोपित सुशील कुमार से पूछताछ के आधार पर उसके अन्य साथियों की भी धरपकड़ तेज कर दी है। इसी कड़ी में क्राइम ब्रांच ने सुशील के चार करीबियों को भी गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार चारों बदमाश काला असौदा गैंग से जुड़े बताए जा रहे हैं। दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के सूत्रों की मानें तो ये चारों 4 मई को छत्रसाल स्टेडियम में हुई जूनियरर पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड में शामिल थे। इन चारों के खिलाफ दिल्ली की कोर्ट की ओर से गैरजमानती वारंट जारी हो चुका था और इसी के साथ दिल्ली पुलिस लगातार इनकी गिरफ्तारी के लिए जुटी हुई थी। 

इन चारों की हुई है गिरफ्तार

  • भूपेंदर उर्फ भूपी (उम्र-38 गांव खेड़ा, जिला- झज्जर, हरियाणा)
  • मोहित उर्फ भोली ( उम्र-22, गांव असौदा, जिला झज्जर, हरियाणा)
  • गुलाब उर्फ पहलवान (उम्र-24, गांव असौदा, जिला झज्जर, हरियाणा)
  • मनजीत उर्फ चुन्नी (उम्र-29, गांव खरवार,  जिला रोहतक, हरियाणा) 

बताया जा रहा है कि इन चारों की गिरफ्तारी दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के स्पेशल स्टाफ में शामिल एसआइ सुदीप, एएसआइ नरेंद्र, एएसआइ रविंदर, एएसआइ दलबीर, हेड कॉन्स्टेबल विनोद कुमार, हेड कॉन्स्टेबल श्री कृष्ण, अश्वनी, नवीन, प्रवीन और तरुन की अहम भूमिका रही। वहीं क्राइम ब्रांच की इस टीम का नेतृत्व इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह ने किया। इसके अलावा ब्रह्मजीत सिंह (एसीपी रोहिणी दिल्ली) इस पूरे ऑपरेशन की निगरानी कर रहे थे।

उधर, क्राइम ब्रांच गैंगस्टर लॉरेंस बिस्नोई, संपत नेहरा के अलावा 2 अन्य को तिहाड़ जेल से पूछताछ के लिए लाई है। बताया जा रहा है कि जरूरत पड़ने पर चारों को सागर धनखड़ हत्याकांड के मुख्य आरोपित सुशील कुमार के समक्ष बैठाकर पूछताछ की जाएगी।

काला जठेड़ी पर पुलिस ने लगाया मकोका

सागर हत्याकांड में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने हरियाणा के चार कुख्यात बदमाश लारेंस बिश्नोई, संपत नेहरा, जग्गू भगवान पुरिया व राजू बसोदी को पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया है। चारों बेहद खतरनाक अपराधी हैं। ये राजस्थान और हरियाणा की अलग-अलग जेलों में बंद थे। इन पर मकोका लगा हुआ है। इसके अलावा सेल ने बड़ी कार्रवाई करते हुए लारेंस के बैंकाक में छिपे साथी काला जठेड़ी पर मकोका लगा दिया है। सेल इन बड़े बदमाशों से पूछताछ कर यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि सागर की हत्या के पीछे संगठित गिरोह का हाथ तो नहीं था। सुशील से इनके किस तरह के कनेक्शन हैं। ये सभी मिलकर संगठित अपराध तो नहीं कर रहे हैं।