भारी बारिश से आठ घंटे बंद रहा थल-मुनस्यारी मार्ग, कोट्यूड़ा गांव में मकान की छत उड़ी

 

भारी बारिश से आठ घंटे बंद रहा थल-मुनस्यारी मार्ग, कोट्यूड़ा गांव में मकान की छत उड़ी

शनिवार की रात पिथाैरागढ़ जिलेभर में भारी बारिश हुई। मुनस्यारी के तल्ला जोहार में बारिश ने काफी नुकसान पहुंचाया । भारी बारिश से मलबा आने से थल-मुनस्यारी मार्ग आठ घंटे बंद रहा। एक ट्रैक्टर ट्राली नाले में बहने से बाल-बाल बची।

पिथौरागढ़/ नाचनी/ धारचूला, संवाददाता : शनिवार की रात पिथाैरागढ़ जिलेभर में भारी बारिश हुई। मुनस्यारी के तल्ला जोहार में बारिश ने काफी नुकसान पहुंचाया । भारी बारिश से मलबा आने से थल-मुनस्यारी मार्ग आठ घंटे बंद रहा। एक ट्रैक्टर ट्राली नाले में बहने से बाल-बाल बची। क्षेत्र के सभी सम्पर्क मार्ग बंद हो गए। कोट्यूड़ा गांव में एक मकान की छत उड़ गई ।

शनिवार से सीमांत में मौसम का मिजाज बदल गया। शनिवार सायं रामगंगा नदी घाटी क्षेत्र मुवानी में भारी बारिश हुई। देर सायं रामगंगा और भुजगड़ नदी के मध्य स्थित तल्ला जोहार में आफत की बारिश हुई। बारिश से पूर्व तेज अंधड़ चला। अंधड़ के चलते कई स्थानों पर पेड़ उखड़ गए , बिजली लाइन क्षतिग्रस्त हो गई । लगभग डेढ़ से दो घंटे तक अंधड़ के साथ मूसलधार बारिश हुई । चलते तल्ला जोहार में आम जनजीवन प्रभावित रहा। इस दौरान लोग दहशत में रहे।

भारी बारिश के चलते नदी, नाले ऊफान पर आ गए। नाचनी -बांसबगड़ मार्ग में हुपुली के पास पहाड़ की तरफ से पानी और मलबा आने से ठेकेदार की एक ट्रैक्टर ट्राली इसकी चपेट में आ गई। ट्राली सड़क से मलबे के साथ खाई की तरफ पहुंच कर लटक गई। इसी दौरान कोट्यूड़ा गांव में गणेश सिंह के मकान की छत उड़ गई । मकान हिलते देख कर परिवारजनों अंधड़ और भारी बारिश के बीच घर से बाहर दौड़ लगा कर पड़ोसी के घर पर शरण ली। घर में रखा सारा सामान नष्ट हो गया। इसकी सूचना तेजम तहसील प्रशासन को दे दी गई है।

भारी बारिश से थल-मुनस्यारी मार्ग में नौलड़ा, नया बस्ती और हरडिय़ा में मलबा आने से मार्ग बंद हो गया। मार्ग बंद होने के कारण रविवार सुबह से यातायात बंद रहा। दोपहर बारह बजे मार्ग यातायात के लिए खुल सका। भारी बारिश के कारण मलबा आने से क्षेत्र की सभी लिंक सड़के बंद हो चुकी हैं। जिसमें कुछ मार्ग तो खोल दिए गए हैं कुछ मार्ग अभी भी बंद हैं।