जल्द भारत आ सकता है भगोड़ा मेहुल चोकसी, भारत से डोमिनिका पहुंचा प्राइवेट जेट

 

डोमिनिका पहुंचा भारत का विमान, एंटीगुआ के पीएम ने की पुष्टि

मेहल चोकसी को वापस लाने के लिए भारत का एक विमान डोमिनिका पहुंच गया है। एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउनी ने खुद इसकी पुष्टी की है। उन्होंने एक स्थानीय मीडिया के हवाले से बताया कि भारत से आया निजी वाहन फिलहाल डोमिनिका के जगलस चार्ल्स एयरपोर्ट पर खड़ा है।

नई दिल्ली, एएनआइ। पंजाब नेशनल बैंक से संबंधित घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी को भारत लाने के प्रयास तेज होते जा रहे हैं। डोमिनिका की पुलिस हिरासत में बंद भगोड़े हीरा कारोबारी को लेकर भारत सरकार ने साफ किया है कि चोकसी को भारत को वापस सौंप दिया जाए। वह भारत का नागरिक है और उसने यहां एक बड़ा जुर्म किया है इसलिए उसे भारत को वापस सौंप दिया जाए।

वहीं, मेहुल चोकसी को वापस लाने के लिए भारत का एक विमान डोमिनिका पहुंच गया है। एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउनी ने खुद इसकी पुष्टी की है। उन्होंने एक स्थानीय मीडिया के हवाले से बताया कि भारत से आया निजी वाहन फिलहाल डोमिनिका के जगलस चार्ल्स एयरपोर्ट पर खड़ा है।

मेहुल चोकसी के डोमिनिका में पकड़े जाने के बाद एंटीगुआ के पीएम ने कहा था कि उन्होंने डोमिनिका को मेहुल चोकसी को सीधे भारत को सौंपने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि हम इस मामले में अदालत के अधिकार क्षेत्र का सम्मान करते हैं। डोमिनिका से चोकसी को सीधे भारत भेजने पर विचार करने का मेरा अनुरोध है।

एंटीगुआ में चोकसी को पूरी तरह से लीगल प्रोटेक्शन मिलती है इसलिए उसे वहां से वापस लाने में भारत को पेचीदगियों का सामना करना पड़ेगा जिसमें ज्यादा समय लगेगा। हालांकि एंटीगुआ के पीएम ने समाचार एजेंसी एएनआइ से बता करते हुए कहा था कि वह चोकसी को वहां घुसने नहीं देंगे, जहां से वह भागकर कथित तौर पर अवैध तरीके से डोमिनिका में जा घुसा था और पकड़ा गया था।

साल 2018 में हो गया था फरार

बता दें कि इससे पहले, एंटीगुआ और बारबुडा में रह रहे भगोड़ा हीरा व्यापारी मेहुल चोकसी के लापता हो जाने की खबर अचानक सामने आई थी। मेहुल चोकसी पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के साथ कथित तौर पर 13,500 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में वांछित है। अधिकारियों ने मंगलवार को बताया था कि चोकसी के खिलाफ लगे आरोपों की जांच कर रही सीबीआई इन खबरों की 'औपचारिक और अनौपचारिक' मंचों के जरिए पुष्टि कर रही है। इंटरपोल ने भी एजेंसी के अनुरोध पर उसके खिलाफ 'रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया है। भारत में अपने खिलाफ चल रहे मामले को देखते हुए वह जनवरी, 2018 में फरार हो गया था।