टेक्‍सास के गवर्नर ने नहीं मानी सीडीसी की सलाह, स्‍कूलों से हटाई मास्‍क लगाने की पाबंदी

टेेक्‍सास ने जारी रखी है मास्‍क की अनिवार्यता

अमेरिकी राज्‍य टेक्‍सास ने सीडीसी की उस गाइडलाइंस को दरकिनार करते हुए राज्‍य के पब्लिक स्‍कूलों में मास्‍क लगाने की बाध्‍यता को खत्‍म कर दिया है। राज्‍य के गवर्नर ने इसके लिए एक एग्‍जीक्‍यूटिव ऑर्डर भी पास किया है।

टेक्‍सास (रॉयटर्स)। टेक्‍सास के गवर्नर ग्रेग एबोट ने एक एग्‍जीक्‍यूटिव आदेश जारी करते हुए अगले माह सभी पब्लिक स्‍कूलों में मास्‍क लगाने की अनिवार्य को समाप्‍त करने का एक आदेश पारित किया है। उनका ये आदेश अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) द्वारा जारी नई गाइडलाइंस से बिल्‍कुल उलट है जिसमें अमेरिका में मास्‍क से पाबंदी हटाने की बात कही गई थी।

टेक्‍सास के गवर्नर ने अपने एग्‍जीक्‍यूटिव ऑर्डर में राज्‍य की सरकारी संस्‍थाओं में काम करने वाले और आने वालों पर ये मास्‍क लगाने की पाबंदी को जारी रखा है। सीडीसी की नई गाइडलाइंस को मानते हुए इस तरह का आदेश फ्लोरिडा के गवर्नर रॉन डिसेंटीस ने भी दिया है।

एबोट ने कहा है कि टेक्‍सास वैक्‍सीनेशन के जरिए कोरोना महामारी से उबर रहा है। इसमें प्रगति देखने को मिल रही है। लोगों में एंटीबॉडीज बन रहे हैं। सरकार की निगाह में मास्‍क की जरूरत लंबे समय तक नहीं होगी। यही वजह है कि सरकार ने लोगों के विवेक पर इस बात को छोड़ दिया है कि वो मास्‍क लगाएं या नहीं।

एबोट के साथ रिपब्लिकन के नेताओं ने इस बात का समर्थन किया है कि लोगों को निजी तौर पर इसका फैसला लेने के लिए छोड़ दिया जाए कि वो मास्‍क लगाए अथवा नहीं। महामारी के दौर में इसकी जरूरत थी क्‍योंकि उस वक्‍त अस्‍पतालों में मरीजों की संख्‍या काफी अधिक थी और इससे होने वाली मौतों का आंकड़ा भी अधिक था। करीब तीन माह पहले से जब राज्‍य में कोरोना संक्रमण के मामले कम होने शुरू हो गए थे तब से ही मास्‍क से प्रतिबंध हटाने की आवाजें उठ रही थी।